सुशासन के जंगलराज में नाटक के दौरान चली गोली, नायक जख्मी

448
1
SHARE

आदित्यानंद आर्य की रिपोर्ट

सीतामढ़ी: आखिरकार खलनायक की गोली से नहीं मरा नायक। यह घटना अक्सर फिल्मों में देखने को मिलती है। परंतु इस घटना को अक्षरशः साबित कर दिया सीतामढ़ी के बथनाहा थाना के पचगछिया गाँव में एक नाटक के मंच के दौरान। जहाँ नाटक खेलने के क्रम में खलनायक ने सही में अवैध हथियार से गोली चला दी। परंतु फिल्मों की तरह ही खलनायक की गोली नायक के जांघ में जा लगती और नायक जख्मी हो कर अस्पताल पहुंच जाता है।

बतादे कि छठ पर्व के समाप्ति के अवसर पर एक जंग नायक नाटक का मंचन किया गया था। जहाँ नायक की भूमिका में स्थानीय छोटन कुमार थे। वहीं उसका एक मित्र खलनायक की भूमिका में था। इस प्रकरण में सबसे बड़ी बात तो यह सामने आई है कि सुशासन की इस सरकार में जंगलराज की तर्ज पर खुलेआम अवैध हथियारों का प्रदर्शन करते हुए इस घटना को अंजाम दिया गया। अब सवाल उठता है कि इतनी बड़ी घटना के बावजूद स्थानीय थाना पुलिस हरकत में तब आई जब मैग्नीफिसेन्ट न्यूज़ की पहल पर वरीय पदाधिकारी ने इस बाबत बथनाहा थानाध्यक्ष को फोन पर इसकी सूचना दी गई।

हालांकि सूत्रों की माने तो घटना के समय थानेदार भी अपने एक सहयोगी के साथ उसी क्षेत्र में घूम रहे थे। परंतु स्थानीय एक जनप्रतिनिधि के सहयोग से स्थानीय पुलिस प्रशासन को मैनेज कर लिया गया था। परंतु वरीय पदाधिकारी को जब मीडिया के माध्यम से इसकी सूचना मिली तब पुलिस तंत्र जागा। हालांकि घायल पचगछिया गाँव निवासी जख्मी छोटन कुमार ने नगर थाना पुलिस को दिए गए अपने फर्द बयान में अज्ञात को आरोपित बनाया है।WhatsApp Image 2017-10-30 at 9.50.01 PM

WhatsApp Image 2017-10-30 at 9.50.02 PM

WhatsApp Image 2017-10-30 at 9.50.05 PM