हम शहर को ही नहीं, गांवों को भी स्मार्ट बनाना चाहते हैं – श्रवण कुमार

414
0
SHARE

गया- तपोवन महोत्सव का उद्घाटन दीप प्रज्वलित कर मंत्री ग्रामीण विकास सह संसदीय कार्य श्रवण कुमार एवं जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने किया इस अवसर पर अतरी विधायक कुंती देवी, पूर्व विधायक कृष्णनंदन यादव, भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु ऋची पांडेय, एसएसपी वलीराम चौधरी, स्थानीय प्रमुख नवल किशोर उपस्थित थे। जिलाधिकारी ने इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए कहा कि तपोवन की पावन धरती पर बिहार के श्रवण कुमार, अतरी विधायक कुंती देवी, अतरी के पूर्व विधायक कृष्णनंदन प्रसाद को तपोवन महोत्सव में भाग लेने के लिए वे धन्यवाद देते हैं।

वर्ष 2015 से तपोवन महोत्सव का आयोजन किया जाता रहा है, भगवान ब्रह्मा के चारों पुत्र सनक, सनंदन, सनत, सनातन ने तपस्या की थी, कृष्ण, रुक्मिणी, बुद्ध ने भी यहां स्नान किये थे। 14 जनवरी को ही पर्वत पुरुष दशरथ मांझी का जन्म दिवस है, यह गौरव की बात है। हमारा प्रयास है कि तपोवन और इसके आसपास के इलाके का विकास किया जा सके। पर्यटन विभाग द्वारा इसके विकास के लिए दो फेज में कार्य किया गया है। प्रथम फेज में 89 लाख की लागत से पांचों कुंडों का सौंदर्यीकरण एवं दूसरे फेज में कैफ़ेटोरिया का निर्माण करवाया गया है। हमारा प्रयास है कि इसके विकास में सभी का योगदान हो। पर्यटन विभाग द्वारा इस पावन अवसर पर एक दिवसीय महोत्सव का आयोजन किया जाता है, जिसमे सुविख्यात कलाकारों द्वारा कार्यक्रम प्रस्तुत किये जाते हैं। ताकि इसका व्यापक प्रचार प्रसार हो सके।

इस अवसर पर उन्होंने मंत्री ग्रामीण विकास विभाग श्रवण कुमार को अल्प समय मे निमंत्रण को स्वीकार कर इस महोत्सव में शामिल होने के लिए हार्दिक धन्यवाद दिया। एएसपी वलीराम चौधरी ने यहां एक अतिरिक्त चौकी खोलने की बात कही। अतरी के पूर्व विधायाक कृष्णनंदन यादव ने भी सभा को संबोधित किया उन्होंने कहा कि जब राज्य स्तरीय आयोजन नहीं होता था, तब जगेशर मांझी, सामाजिक कार्यकर्ता के साथ विगत 20 वर्षों से यहां कार्यक्रम करते थे। उन्होंने स्थानीय लोगो को कुंड के महत्व को समझने को कहा। इसके विकास के लिए एकजुट होने का आह्वान किया। अतरी के विधायक कुंती देवी ने कहा कि मकर संक्रांति के अवसर पर श्रवण कुमार को धन्यवाद देती हूँ कि उनके के कारण यहाँ विकास हुआ है।

ग्रामीण विकास मंत्री ने सभा को संबोधित करते हुए मकर संक्रांति के अवसर पर उपस्थित विधायक, पूर्व विधायक, जिलाधिकारी एवं प्रमुख नवल किशोर यादव सहित सभी लोगों का हार्दिक अभिनंदन किया। उन्होंने कहा कि जब राज्य सरकार के स्तर से महोत्सव का आयोजन नहीं होता था, तब स्थानीय लोगों के सहयोग से इस स्थल के प्रचार प्रसार के लिए वे यहाँ कार्यक्रम का आयोजन करते थे। स्थानीय लोग यदि अपने व्यवहार में परिवर्तन करें तो इस स्थल का कायाकल्प हो सकता है। उन्होंने कहा कि राजगीर में स्नान करने के साथ तपोवन में भी स्नान करना होता है, नहीं तो स्नान का पुण्य नहीं मिलता है। यह बात कही जाती रही है। राष्ट्रीय स्तर के ही नहीं अंतरराष्ट्रीय स्तर के पर्यटक यहाँ आते हैं। महात्मा बुद्ध इसी रास्ते से होकर गए हैं। इस धरती में जरूर कोई विशेषता है। कई देशों के लोग यहाँ मंदिर का निर्माण करवा रहे हैं। स्थानीय लोगो को अतिथि देवो भवो की भावना रखना होगा, तभी इस स्थल का विकास होगा। जब से नीतीश कुमार की सरकार आयी हैं तब से पूरे बिहार में महोत्सव ही महोत्सव हो रहा है। चारों तरफ खुशियां ही खुशियां है।

हम शहर को ही नहीं, गांवों को भी स्मार्ट बनाना चाहते हैं। हर घर शौचालय बनवाएंगे, नल का जल देंगे, सड़क देंगे, बिजली देंगे। 2019 तक सभी कार्य पूरा करेंगे। डॉ0 हई ने कहा कि कैंसर से 10 लाख लोग प्रतिवर्ष बिहार में बीमार पड़ रहे हैं, उनमें अधिकतर खुले में शौच करने से बीमार हो रहे है। शौचालय बनवाने पर सरकार भी 12 हजार रुपया भी दे रही है।

उन्होंने पर्वत पुरुष दशरथ मांझी के जन्म दिवस पर प्रत्येक व्यक्ति को शौचालय बनाने का संकल्प लेने को कहा। उन्होंने कहा कि शौचालय बनवाने से सभी परेशानी दूर होगी। शिक्षा में बिहार का बृद्धि दर 13 प्रतिशत हैं जबकि राष्ट्रीय स्तर अधिक हैं। इंटर से आगे 100 में मात्र 14 छात्र पढ़ रहे हैं, इस औसत को बढ़ाने के लिए शिक्षा के लिए 4 लाख रुपये का क्रेडिट कार्ड विद्यर्थियों को सरकार की गारंटी पर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के बिना बिहार आगे नहीं बढ़ सकता है, इसलिए शिक्षा को आगे बढ़ाना है। उन्होंने कहा कि तपोवन का इलाका पर्यटन के क्षेत्र में अवश्य आगे बढ़ेगा। उन्होंने स्थानीय लोगो को अपने विचार और व्यवहार में परिवर्तन करने का आह्वान किया। धन्यवाद ज्ञापन अनुमंडल पदाधिकारी नीमचक बथानी राधाकांत ने किया।