हर जिले में दस शिक्षकों का सम्मान करेगा जदयू शिक्षा प्रकोष्ठ

108
0
SHARE

पटना – जदयू शिक्षा प्रकोष्ठ की बैठक पार्टी के प्रदेश कार्यालय में हुयी बैठक की अध्यक्षता करते हुए जदयू शिक्षा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष कन्हैया सिंह ने कहा कि जदयू शिक्षा प्रकोष्ठ हर जिले में सभा का आयोजन कर दस विद्वान शिक्षकों का सम्मान करेगा। ये विद्वान शिक्षक होंगे हाई स्कूलों से रिटायर्ड शिक्षक, कॉलेजों के प्राध्यापक व गांव ट्यूशन पढ़ाकर शिक्षा का अलख जगाने वाले शिक्षक। सिंह ने कहा कि जब नीचे स्तर की इकाई सशक्त होगी तो राज्य इकाई स्वयं सशक्त हो जाएगी। सिंह ने कहा कि उनकी ताकत शिक्षक समुदाय हैं और कोई ऐसाघर नहीं होगा जहां हमारे सदस्य न हो क्योकि मानव के लिए पहले शिक्षक तो उनके माता पिता होते हैं।

उन्होंने कहा कि जदयू शिक्षा प्रकोष्ट इतना सशक्त है कि हमारे यहां सबसे अधिक वक्ता है। उन्होंने कहा कि हमें गर्व है कि जदयू देशस्तर पर छठी बड़ी पार्टी है हमारे देश स्तर पर 100 से अधिक विधायक व विधान पार्षद व 22 सांसद हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा प्रकोष्ठ के साथी सरकार द्वारा शिक्षा व शिक्षक के लिए किए कार्यो को आमलोगों तक पहुंचाएंगे। उन्होंने कहा कि हर महीने के तीसरे रविवार को प्रदेश कार्यालय में बैठक होगी। तथा हर अलटरनेट महीने में प्रमंडलों में बैठक होगी। यह बैठक प्रमंडल के ग्रामीण स्तर के हाई स्कूल या कॉलेज के प्रांगन में होगी। उन्होंने संगठन के साथियों से आह्वान किया कि वे हर सप्ताह एक नये सदस्य बनाकर संगठन को गतिमान बनाएं।

सिंह ने कहा कि जल्द ही सशक्त लोगों की प्रदेश कमिटी व जिला अध्यक्षों की घोषणा की जाएगी। इस मौके पर प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र यादव ने कहा कि प्रदेश या जिला में पदाधिकारी बनने से पूर्व सभी सदस्यों को पहले सक्रिय सदस्य बनना होगा जो नहीं बन पाए है वे जल्द सक्रिय सदस्य बन जाएं। बैठक का संचालन अवधेश तिवारी व धन्यवाद ज्ञापन प्रमोद कुमार सिंह ने किया। बैठक में विद्यानंद विकल, अर्जुन प्रसाद सिंह, डॉ. संगीता, भारती कुमारी, प्रो. उमाकांत झा, डॉ. नारायण यादव, रामउपेन्द्र सिंह, संजीव कुमार सहित कई शिक्षकों ने विचार व्यक्त किए।