हर-हर महादेव से गुंजायमान हुआ शहर

115
0
SHARE

लखीसराय – हर-हर महादेव से गुंजा शिव मंदिर, सावन माह की पहली सोमवारी को शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़। अशोक धाम मंदिर में पचास हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने विशाल शिवलिंग पर
किया जलाभिषेक। अशोक धाम मंदिर में नगर विकास मंत्री, श्रम संसाधन मंत्री,सहकारिता मंत्री, पर्यटन मंत्री ने शिवलिंग पर किया जलाभिषेक।

जिले के श्रृंगीऋषि धाम, रामेश्वर धाम, गौरी शंकर धाम में शिवभक्तों ने की पूजा अर्चना। विद्वान पंडितों के वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच भोलेनाथ पर जलाभिषेक किया गया। आश्चर्य की बात तो यह है कि इस पावन बेला में भी सुरक्षा व्यवस्था के बावजूद चोरों द्वारा दर्जनों महिला शिवभक्तों के चैन एवं पर्स उड़ाए गये।

एसडीओ मुरली प्रसाद सिंह ने बताया कि पहली सोमवारी को लेकर मंदिर परिसर में दोनों गेटों पर सुरक्षा बल तैनात है। ऐसे में बेहतर व्यवस्था के लिए सभी जगहों पर पुलिस बलों की तैनाती की गई है। खासकर मंदिर परिसर में इस समय गले की चेन व पर्स आदि गायब करने वाले गिरोहों पर पुलिस की नजर रहेगी। इसके लिए मंदिरों में सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं।  जो महिला व पुरुष श्रद्धालुओं की अलग अलग लाइन बनाकर उन्हें जलाभिषेक करने में मदद करेंगे।

वहीं मंदिर के बाहर दोनों ओर से किसी भी गाड़ी का प्रवेश बंद कर दिया गया है। मंदिर समिति की ओर से श्रद्धालुओं व कांवरियों को मंदिर परिसर में ठहरने की व्यवस्था की गई है। मंदिर परिसर के गर्भगृह से लेकर बाहरी हिस्से तक में 8 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। वहीं सुरक्षा की कमान संभालने के लिए पुलिस बल तैनात है। उसके बाद भी पटना जिले के बाढ़ बाजार की गीता देवी, पिपरिया प्रखंड के राहाटपुर गांव की रेखा देवी सहित चोरों द्वारा दर्जनों महिला शिवभक्तों के चैन एवं पर्स उड़ा लिया गया।

सावन के पहली सोमवार पर दूसरे राज्यों समेत कई जिलों से जलाभिषेक करने के लिए शिव भक्तों की सैलाब उमड़ पड़ा है। गेरुआ रंग में रंगे कांवरियों से अशोकधाम पथ पर बारिशों की फुहार के बीच कांवरियों के कदम न थके न रुके। बोल बम, हर-हर महादेव का जयघोष करते शिवभक्तों का रेला थमने का नाम नहीं ले रहा था। शिवभक्त ‘जयति शिवा शिव जानकी राम! राधेश्याम जय जय हनुमान!’के महामंत्र से आसपास का वातावरण भक्तिमय बन गया। बड़हिया गंगाघाट के गंगा के पवित्र जल ले कांवरिया एन एच-80 मार्ग से पैदल एवं गाड़ी से होते हुए अशोकधाम मोड़ फिर यहां से पैदल मंदिर पहुंचकर जलाभिषेक के लिए लाईनलगाते है। बगैर कही रुके ये बोल बम यात्री लगातार आगे बढ़ते रहे। और
अशोकधाम के विशाल शिवलिंग पर तकरीबन 50 हजार श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक किया।

मंदिर परिसर में दिखी पानी का स्टॉल,मेडिकल टीम व एम्बुलेंस बड़हिया घाट व एनएच-80 स्थित अशोकधाम द्वार पर बने दो नियंत्रण कक्ष में मेडिकल टीम की तैनाती का निर्णय था लेकिन वो नदारद थी। एम्बुलेंस भी तैनात नहीं दिखी। दूसरी ओर विद्युत विभाग ने सावन मास में 30 दिन निर्बाध बिजली आपूर्ति करने की बात कहीं थी एवं गड़बड़ी एवं इस पर नजर रखने के लिए एक नियंत्रण कक्ष बनाकर नंबर भी सार्वजनिक की थी। परिसर में नगर परिषद के
द्वारा पीने का पानी व स्वास्थ शिविर लगाया गया है।