हैवान पति ने दो बच्चों के साथ पत्नी को जला दिया जिंदा

414
0
SHARE

दरभंगा: बिहार के दरभंगा जिले के सिंहवाड़ा प्रखंड अंतर्गत कमतौल थाना क्षेत्र में एक पति ने हैवानियत की सीमा लांघते हुए एक साथ अपने परिवार के तीन लोगों को जिंदा जला के मार डाला।

दरभंगा के टेकटार पंचायत में एक पति द्वारा डेढ़ वर्षीय पुत्री, चार वर्षीय पुत्र और 32 वर्षीय पत्नी सहित तीन लोगों को घर में आग लगाकर जला दिए जाने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है।

कहा जाता है कि घटना मंगलवार देर रात करीब 2 बजे घटित हुआ। जब आसपास के लोग गहरी नींद की आगोश में थे, आरोपी पति मुख्य द्वार में ताला लगा घर में आग, सास को फोन पर घटना की जानकारी दिया, उसके बाद मौके से फरार हो गया।

आग लगने की भनक मिलते ही काफी संख्या में ग्रामीण जुटे। जबतक लोग आग पर काबू पाते, तीनों उसमें जलकर राख हो गए। मृतका की पहचान मो. हारून की पत्नी रूखसाना खातुन तथा पुत्री एना और पुत्र दिलशाद के रूप में हुई है।

घटना के बाद से आरोपी हारून मौके से फरार है। मौके पर पुलिस ने पहुंच कर तीनो शवों को अपने कब्ज़े में लेकर पोस्टमार्टम के लिए दरभंगा अस्पताल भेज दिया। इस घटना को लेकर पूरे इलाके में सनसनी फैल गयी है। पुलिस के अनुसार आरोपी पति आपराधिक प्रवृति का था और पत्नी के साथ अक्सर मारपीट किया करता था।

मृतका की मां रसुला खातुन के बयान पर प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई चल रही है। फर्द बयान के अनुसार मृतका के पति का नाम वाजितपुर बहपुरा निवासी मो. हारून बताया गया है। वहीं मृतका बरिऔल निवासी स्व. समसुद्दीन की पुत्री थी। जिसकी शादी करीब पांच वर्ष पूर्व हुई थी। शादी के बाद हारून टेकटार रेलवे स्टेशन के पश्चिम जियाउद्दीन का जमीन किराया पर लेकर झोपडी बनाकर रहता था। आये दिन पत्नी से झगड़ा और मारपीट करता था। दो दिन पहले बरियौल जाकर सास को धमकी दिया था की बेटी को जलाकर मार देंगे।

ग्रामीणों के मुताबिक वह किसी केस मे जेल से छूटकर हाल ही में वापस आया था। वह इलाके के बाहर चोरी आदि कई अन्य तरह का काम करता था, इसी सिलसिले में कई बार जेल भी जा चुका है। पड़ोसी की बात मानें तो हारून की पत्नी हारून को आपराधिक प्रविर्ती से निकाल कर उसे ईमानदारी की काम करने को कहती थी