1 जून से बिहार के लिए चेलेंगी 48 ट्रेनें, सफर के दौरान नियमों का पालन करना होगा अनिवार्य

217
0
SHARE

PATNA: श्रमिक स्पेशल और एसी स्पेशल के बाद अब 1 जून से और 200 स्पेशल ट्रेनें भी चलने लगेंगी. आम लोगों की सुविधा के मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और गृह मंत्रालय के परामर्श से रेल मंत्रालय द्वारा 1 जून से ट्रेन सेवाओं की आंशिक बहाली करते हुए 200 स्पेशल ट्रेनों का परिचालन शुरू किया जा रहा है. इनमें बिहार राज्य के लिए 48 जबकि यहां से गुजरने वाली 20 स्पेशल ट्रेन भी शामिल हैं.

इस स्पेशल ट्रेन का परिचालन नियमित ट्रेनों के पैटर्न पर महत्पूर्ण स्टेशनों के लिए होने जा रहा है. ये विशेष सेवाएं 1 मई से चलाई जा रही मौजूदा श्रमिक एक्सप्रेस और 12 मई से चल रही 30 एसी स्पेशल ट्रेनों के अतिरिक्त होंगी. अन्य सभी मेल/एक्सप्रेस, उपनगरीय नियमित सेवाएं अगले निर्देष तक रद्द रहेंगी.

भारतीय रेल द्वारा 01.06.220 से चलायी जाने वाली 200 स्पेशल ट्रेनों में से 48 स्पेषल (24 जोड़ी) ट्रेनें पटना, गया, मुजफ्फरपुर, सहरसा सहित बिहार राज्य के अन्तर्गत पड़ने वाले अन्य महत्वपूर्ण स्टेशनों से खुलेंगी/पहुंचेगी. साथ ही 20 (10 जोड़ी) वैसी स्पेशल ट्रेनें भी हैं, जो बिहार राज्य के लिए निर्धारित स्टेशनो पर रुकते हुए अपने गंतव्य को जाएंगी.

नियमित ट्रेनों के पैटर्न पर चलायी जाने वाली स्पेषल ट्रेनें निम्नवत् हैंः

अन्य क्षेत्रीय रेलों से चलकर बिहार राज्य के विभिन्न स्टेशनों से गुजरने स्पेशल ट्रेन इस प्रकार है-

इस प्रकार दिनांक 1 जून से पटना से 5 जोड़ी, राजेन्द्रनगर टर्मिनल, पाटलिपुत्र, राजगीर एवं छपरा से क्रमशः एक-एक जोड़ी, दानापुर से 4 जोड़ी, जयनगर से 2 जोड़ी तथा दरभंगा से 03 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों का परिचालन तय दिनों को किया जाएगा. इसी तरह मुजफ्फरपुर से 3 जोड़ी एवं सहरसा, रक्सौल तथा मोतिहारी से क्रमशः एक-एक जोड़ी स्पेशल ट्रेनें चलेंगी. ये सभी स्पेशल ट्रेनें अपने प्रारंभिक स्टेशन से खुलकर ठहराव दिए गए स्टेशनों पर रुकते हुए नई दिल्ली, मुंबई, अहमदाबाद, पूणे आदि स्टेशनों के लिए चलेगी. इसके अलावा बिहार से गुजकर अन्य क्षेत्रीय रेलों की ओर जाने वाली गाड़ियां भी राज्य के अलग-अलग स्टेशनों पर रूकते हुए चलेंगी.

इन ट्रेनों से यात्रा करने वाले यात्रियों को सरकार द्वारा कोविड-19 से बचाव एवं इसके रोकथाम हेतु जारी दिषा-निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा. टिकट की बुकिंग आईआरसीटीसी की वेबसाइट या मोबाइल एप के जरिए ऑनलाइन अथवा खोले गए बुकिंग काउंटरों से की जा सकती है.