स्वास्थ्य विभाग के सबसे बड़े घोटाले में 12 नामजद डॉक्टरों की जमानत याचिका खारिज

781
0
SHARE

कैमूर/ संवाददाता- कैमूर जिले के स्वास्थ्य विभाग में अब तक का सबसे बड़ा घोटाला उजागर होने के बाद निगरानी कोर्ट ने सभी घोटालेबाज डॉक्टरों की जमानत अर्जी को खारिज कर दिया है।

Read More Bihar News in Hindi

जिसमें 12 डॉक्टर समेत कुल 26 लोगों पर साढ़े छह करोड़ रूपए गबन करने का आरोप लगा था। स्वास्थ्य विभाग में बंध्याकरण घोटाला किया गया था, जिसमें एक ही महिला को कई बार बंध्याकरण का ऑपरेशन करते हुए कागज मेंटेन कर अवैध राशि निकाली गई थी। जिसके बाद 2011 में घोटाले का मामला उजागर हुआ था। जिसमें राजद के पूर्व बक्सर सांसद जगतानंद के बेटे डाक्टर पुनीत सिंह का भी नाम इस फर्जी घोटाले में शामिल है। अब उनकी भी गिरफ्तारी तय माना जा रहा है। कैमूर एसपी हरप्रीत कौर ने बताया कि वर्ष 2011 में जब स्वास्थ्य विभाग का ऑडिट हुआ था तो पता चला था कि स्वास्थ्य विभाग में बंध्याकरण के नाम पर फर्जी तरीके से साढ़े छह करोड़ रुपए की अवैध निकासी कर ली गई थी। जिसमें एक ही महिला को कई बार बंध्याकरण करने का रजिस्टर में नाम दर्ज किया गया था, और उसके नाम पर राशियां निकाल लिया गया था।

Read More Kaimur News in Hindi

इस फर्जीवाड़े में कई एनजीओ संचालकों ने इसमें अपना हाथ साफ किया था, जिसने पूर्व सिविल सर्जन भी शामिल थे । कूल बारह डॉक्टर समेत 26 लोगों पर निगरानी विभाग ने गैरजमानती वारंट जारी कर दिया है। जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।