15 सितम्बर को राज्य के सभी प्रखंडों में किसान क्रेडिट कार्ड कैम्प का आयोजन किया जायेगा – डाॅ॰ प्रेम कुमार

111
0
SHARE

पटना – बिहार के कृषि विभाग मंत्री डाॅ॰ प्रेम कुमार ने कहा कि 15 सितम्बर को राज्य के सभी प्रखंडों में किसान क्रेडिट कार्ड कैम्प का आयोजन किया जायेगा। उन्होंने कहा कि कतिपय कारणों से विगत कुछ वर्षों से प्रखण्ड स्तरीय किसान क्रेडिट कार्ड एवं कृषि ऋण वितरण कैम्प का आयोजन नहीं हो पा रहा था। अब प्रत्येक माह के 15 तारीख को प्रखण्डों में किसान क्रेडिट कार्ड कैम्प का आयोजन किया जायेगा, जिसमें किसानों को ऋण वितरण प्रक्रिया को सरल करते हुए आॅन-स्पाॅट ऋण स्वीकृत करने का प्रयास किया जायेगा। अभी तक दो किसान क्रेडिट कार्ड कैम्प आयोजित हुए हैं, जिनका परिणाम अच्छा रहा है। किसानों को कृषि कार्यों के लिए आवश्यक धन राशि की व्यवस्था में किसान क्रेडिट कार्ड बहुत ही सहायक होता है। किसान क्रेडिट कार्ड से ऋण नहीं मिलने के कारण किसान साहुकारों के चंगुल में फँसने को बाध्य हो जाते हैं। बैंकों एवं विभागों के बीच समन्वय कर फिर से किसान क्रेडिट कार्ड कैम्प का आयोजन कराया जा रहा है।

इस कार्यक्रम का उद्देश्य किसानों को कृषि ऋण पर लगने वाले ब्याज के बोझ को कम करना है, ताकि किसान उत्साहित होकर अधिक-से-अधिक संस्थागत ऋण प्राप्त कर सके। किसान क्रेडिट कार्ड कैम्प में किसानों को सुगमतापूर्वक कृषि ऋण उपलब्ध कराया जायेगा, जिससे किसान भाई-बहन अपने कृषि संबंधी कार्यों को आसानी से पूरा कर पायेंगे। राज्य सरकार राज्य के कृषकों को सभी प्रकार की सहायता पहुँचाने के लिए कृतसंकल्पित है।

मंत्री ने कहा कि इस प्रखण्ड स्तरीय शिविर में राज्य के किसानों को फसल ऋण, कृषि यंत्रों पर ऋण, किसान क्रेडिट कार्ड, डेयरी, मुर्गीपालन, बकरीपालन, मत्स्यपालन आदि के लिए ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि समय पर कृषि ऋण की अदायगी करने वाले कृषकों को भारत सरकार द्वारा ब्याज पर 3% तथा राज्य सरकार द्वारा ब्याज पर 1% छूट का प्रावधान किया गया है। इस प्रकार समय पर ऋण की अदायगी करने वाले कृषकों को मात्र 3% ब्याज पर ही ऋण मिलेगा। किसानों को कृषि ऋण के लिए सामान्य आवेदन पत्र मुफ्त में उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होंने आगे बताया कि एक लाख रूपये तक कृषि ऋण के लिए काॅलेटरल सिक्यूरिटी की आवश्यकता नहीं है। प्रखण्ड स्तरीय शिविर में ही बैंक, राजस्व एवं कृषि विभाग के संबंधित पदाधिकारी एवं कर्मचारी उपलब्ध रहेंगे।

उन्होंने कहा कि किसान क्रेडिट कार्ड के लिए पूर्व से प्राप्त पूर्ण आवेदन की स्वीकृति शिविर में की जाएगी तथा नये आवेदन भी प्राप्त किये जायेंगे। आवेदन पर किसी प्रकार की आपत्ति का समाधान किसान क्रेडिट कैम्प में ही किया जायेगा। ईच्छुक किसान भाई-बहन प्रखण्ड में शिविर के दिन अथवा इसके पूर्व नए ऋण के लिए निर्धारित प्रपत्र में आवेदन कर सकते हैं। डाॅ॰ कुमार ने किसानों से अपील किया कि इस प्रखण्ड स्तरीय शिविर में अधिक-से-अधिक संख्या में भाग लेकर लाभ उठायें।