25.5 लाख का इनामी नक्सली प्रद्युम्न की संपति होगी जब्त

530
0
SHARE

जहानाबाद- 25.5 लाख का इनामी नक्सली प्रद्युम्न शर्मा पर प्रवर्तन निदेशालय ने पूरी तरह से शिकंजा कस दिया है।इस नक्सली नेता के चल और अचल सम्पति को जब्त किये जाने की प्रक्रिया लगभग पूरी कर ली गई है और आय के अन्य स्रोतों को भी खंगाला जा रहा है। सरकार को इस बात की मुकम्मल जानकारी थी कि नक्सलियों ने लेवी की बड़ी रकम को रियल स्टेट में किया है निवेश।किसी नक्सली नेता का बेटा या उसके परिजन डॉक्टर तो कोई इंजीयरिंग की तैयारी कर रहा है।

इसी कड़ी में सरकार ने मगध ज़ोन प्रभारी प्रद्युम्न शर्मा जो की नक्सली संगठन भाकपा (माओवादी) का सक्रिय सदस्य और स्पेशल एरिया कमेटी मगध जोन का प्रभारी भी है को अपने राडार पर लिया और आय के स्रोतों के साथ चल अचल सम्पति पर हमला बोला है। प्रद्युम्न शर्मा पर जहानाबाद, नालंदा, नवादा और गया में बिहार और झारखंड के 51 नक्सली कांडों में शामिल होने का आरोप है। प्रद्युम्न पर बिहार सरकार ने 50 हजार एवं झारखंड सरकार ने 25 लाख का इनाम घोषित कर रखा है इधर सरकार ने अपनी एजेंसियों के माध्यम से जो जानकारी जुटाई है उसके अनुसार प्रद्युम्न शर्मा उर्फ कुंदन ने अपने भाई की आपराधिक पृष्ठभूमि के बल पर लेवी और रंगदारी वसूले। शर्मा के पास 37 लाख के जमीन के अलावा भाई के नाम से बैंक में लाखों जमा हैं। इनके बच्चे महंगे संस्थानो में पढ़ते हैं।

आयकर विभाग की जांच ने सबकुछ खोल कर रख दिया है। सरकार की एजेंसियों ने जो पड़ताल की है उसके अनुसार प्रद्युम्न का भाई प्रमोद सिंह पत्नी शांति देवी के नाम से हुलासगंज में जमीन, पंजाब नेशनल बैंक सुखियावां में 7 लाख 22 हजार, विभिन्न स्थानों पर 10 प्लाट जिसकी अनुमानित मूल्य 1 करोड़ से भी अधिक है। भतीजा वरुण कुमार और तरुण कुमार के नाम पर पंजाब नेशनल बैंक सुखियावां शाखा में 25 लाख, 2 प्लाट जिसका मूल्य 10 लाख रुपये है।

भतीजी पूजा कुमारी जो चेन्नई में एमबीबीएस कर रही है अगस्त 2017 में नामांकन के लिए 22 लाख रुपये का फेडरल बैंक का ड्राफ्ट जमा किया था, सलाना 10 लाख रुपये पढ़ाई पर खर्च और फ्लाइट से आती जाती है, बिना पैन कार्ड का सभी लेनदेन की गई है। जिसका आय का कोई स्रोत नहीं है इस संदर्भ में एसपी मनीष ने बताया कि प्रद्युम्न जिले के कई नक्सली कांडों में संलिप्त रहा है और सरकार नक्सलियों के चल अचल संपत्ति जब्त करने की योजना के तहत कर कार्रवाई शुरू कर दी है। सारी प्रक्रिया पूरी कर ली गई है और चंद दिनों में चिन्हित सम्पतियों को जब्त कर लिया जाएगा।