500-1000 का नोट लेने से रेलवे, पेट्रोल पंप का इंकार

1076
0
SHARE

पटना: 500 और 1000 रुपए के नोट बंद होने के बाद मोदी सरकार के इस फैसले को जहां एक तरफ समर्थन मिल रहा है तो वहीं दूसरी तरफ इस फैसले की जमकर आलोचना भी हो रही है। पीएम के इस ऐतिहासिक एलान के बाद देश भर में अफरा-तफरी का माहौल देखने को मिल रहा है।

पटना के गांधी मैदान के पेट्रोल पंप पर 500 -1000 रूपये का नोट नहीं लेने से आम लोगो को काफी परेशानी हो रही है। इससे आक्रोशित लोगों ने पीएम के खिलाफ विरोध जताया। पटना में रहने वाले स्थानीय लोगों ने कहा कि नोटों के बंद होने से हॉस्पिटल, किराना दूकान से लेकर पेट्रोल पंप पर काफी परेशानी देखने को मिल रही है। इसका लेकर इसका पूरा विरोध करते हुए लोगो ने कहा कि नहीं चाहिये मुझे ऐसा पीएम।

अगले दो दिन बैंक बंद होने के चलते एटीएम मशीन से पैसे निकालने वालों की भी लम्बी कतारें लग गईं। ज्यादातर लोग 100-100 का नोट निकालने की कोशिश कर रहे थे। इस कारण एटीएम में और समय लग रहा था। शहर के अधिकांश पेट्रोल पंप पर पेट्रोल और डीजल नहीं मिल रहा है। कुछ पंप पेट्रोल दे रहे हैं, लेकिन इस शर्त पर की 500 रुपए या 1000 रुपए के पेट्रोल लेना होगा।

वहीं भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता मोदी के फैसले का समर्थन करते हुए सड़क पर उतर आए। पटना के वीरचंद्र पटेल पथ पर 500 और 1000 के नोट के फोटो और कटआउट लिए कार्यकर्ता नरेंद्र मोदी जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे। कार्यकर्ताओं का कहना है कि इससे कालेधन पर लगाम लगेगा।