6 महीने पहले बनी पानी टंकी गिरकर ध्वस्त, ग्रामीणों ने अधिकारियों पर लगाया अनियमितता का आरोप

59
0
SHARE

KAIMUR: जिले में नल-जल योजना में बड़ी अनियमितता सामने आई है. जिले के भभुआ प्रखंड के बरहुली गाँव में 25 लाख के लागत से बनी पानी टंकी 6 माह में ही टूटकर धराशायी हो गई, जिसके बाद गाँव में पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है. वहीं घटना से नाराज ग्रामीणों ने जिला प्रशासन को 1 सप्ताह का अल्टिमेटम दिया है. उन्होंने कहा कि जल्द पानी की सप्लाई शुरू नहीं हुई तो वे बालटी और लोटा लेकर सड़क जाम कर प्रदर्शन करेंगे.

मालूम हो कि इस गांव में कई सालों से पानी की है. हर साल जिला प्रशासन पानी की टैंक भेजवाती थी, जिससे गाँव के लोगों की प्यास बुझती थी. नल-जल योजनाओं के तहत गांव में पानी टंकी लगा तो गांव वालों में यह उम्मीद जगी कि अब पानी की समस्या नहीं होगी. लेकिन नल-जल योजना के पैसों का अधिकारी और जनप्रतिनीधी मिलकर बंदर बाट कर लिया. जिसका नतीजा यह हुआ कि बिना आँधी बयार के की पानी टंकी गिर कर धवस्त हो गया.

ग्रामीणो का कहना है कि मामले की जांच कराया जाए और पानी टंकी का फिर से निर्माण कराया जाए ताकि भीषण गर्मी में पानी की समस्या ना हो. जबकि कैमूर डीएम ने कोरोना महामारी को लेकर जारी गाइडलाइन के अनुसार सात निश्चय योजनाओं को शुरू करने का आदेश जारी किया है. लेकिन अधिकारी डीएम के आदेश की भी अनदेखी कर रहे हैं. गांव में खानापूर्ती कर नल-जल योजना के तहत कई घरों में अभी भी नल नहीं लगा. ऐसे में अब तो बिना पानी मिले ही लोगों को पानी का टैक्स देने की चिंता सताने लगी है.

कैमूर से दिलीप की रिपोर्ट