72 घंटे में पुलिस ने किताब व्यवसाई हत्याकांड का उद्भेदन करते हुए चार अपराधियों गिरफ्तार किया

180
0
SHARE

आदित्यानंद आर्य की रिपोर्ट

सीतामढ़ी- पुलिस ने जिले में बढ़ते आपराधिक घटनाक्रमो के बीच आज राहत की साँस ली, जिला पुलिस ने बीते शुक्रवार की देर शाम शहर के चर्चित किताब व्यवसाई हत्या और लूटकांड मामले को 72 घंटे के भीतर उद्भेदन करते हुए इन्फॉर्मर (सूचक) समेत चार अपराधियो को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार अपराधियों के पास से पुलिस ने वारदात में प्रयोग किये गए हथियार, मोबाइल, बाईक व लूट के रुपये बरामद किए है। गिरफ्तार अपराधियो की पहचान नगर थाना के कोढियाबा टोला निवासी मंगल कुमार, रवि कुमार, राजेश कुमार और सत्यम कुमार के रूप में की गई है।

बताते चले कि बीते शुक्रवार की रात अपराधियों ने जिस प्रकार शहर के किताब दुकानदार किशोरी प्रसाद गुप्ता की चाकू मारकर हत्या को अंजाम दिया था। उससे व्यवसायी वर्ग के बीच फिर आक्रोश और खौफ का माहौल बना हुआ है। रात करीब पौने नौ बजे जैसे ही शहर में व्यवसायी की हत्या की खबर फैली हर कोई स्तब्ध रह गया। दहशतजदा व्यवसायियों ने झटपट अपने-अपने प्रतिष्ठानों के शटर गिराने लगे। वहीं बेचैनी में राहगीरों के कदम तेजी से अपने-अपने मंजिल की ओर बढ़ने लगे थे। एक परिवार का मुखिया जो दिन रात मेहनत कर जिंदगी की इमारत खड़ी कर रहा था। वह बेखौफ अपराध का शिकार बन गया। वहीं हत्या की उक्त घटना ने शहर में पुलिस की गश्ती पर भी बड़ा सवाल खड़ा कर दिया था।

हद तो तब हो गई जब नगर थाने के थानेदार ने गश्ती का दावा कर रहे है, और अपराधी हत्या व लूट को अंजाम देकर निकल जा रहे। मुख्य सड़क के कुछ व्यवसायियों की बातों पर गौर करे तो घटना से महज कुछ मिनट पहले नगर थाने की गश्ती दल को किरण चौक से शहर की ओर जाते देखा गया। इसके बाद ही व्यवसायी पर हमले की उक्त घटना हुई है। जिससे शहर के व्यवसाई लोग परेशान है । हालांकि की घटना के बाद पहुंचे नगर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर अनिल कुमार शर्मा ने स्पष्ट किया था कि हत्या में संलिप्त अपराधियों को पकड़ने की कार्रवाई युद्ध स्तर पर शुरू कर दी गयी है और अपराधियों को जल्द से गिरफ्तार किया जाएगा।

बताते चले कि विगत वर्ष 2014 के 30 दिसंबर और 31 दिसंबर की वह चुक आज भी शहर वासियों को खौफजदा करती है। जब नये साल 2015 के आगमन की तैयारी में जुटे दो परिवार की खुशियां खून से सन गया था।