8 साल की बच्ची का गला रेता, बेहोश हुई तो मरा समझ कर कचड़े के ढेर में फेंका

115
0
SHARE

MOTIHARI: बिहार के पश्चिम चंपारण जिले के बगहा से एक दिल दहल देने वाली खबर सामने आई है। दो युवकों ने एक 8 साल की बच्ची को उसके घर से अगवा कर उसका गला धारदार हथियार से रेंत दिया। बच्ची बेहोश हो गई तो आरोपियों ने उसे मरा हुआ समझकर कचड़े के ढेर पर फेंक दिया और फरार हो गए। होश आने पर बच्ची अपना गला पकड़े हुए घर पहुंची। परिजनों ने बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां बच्ची जिंदगी मौत से लड़ रही है। वहीं पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, घटना कालीबाग ओपी थाना क्षेत्र की है। बताया जा रहा है कि बच्ची का पिता अपने घर में जिम चलाता हैं। जिसमें आरोपी युवक राजदेव भी आता था। इसी बीच शनिवार देर शाम राजदेव और उसके दोस्त ने जिम मालिक की आठ साल की बच्ची को उसके घर के पास से ही पकड़ लिया और मुंह में कपड़ा ठुंस दिया।

जिसके बाद दोनों युवक ने मिलकर बच्ची का गला रेत दिया और मरा हुआ समझ कर कचड़े के ढेर पर फेंक दिया। कुछ देर बाद बच्ची घायल हालत में अपने मोहल्ले में पहुंची जहां वार्ड सदस्य व अन्य लोगों ने मिलकर लड़की को अस्पताल पहुंचाया और इसकी जानकारी बच्ची के पिता को दी। बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ या नहीं, इस बात की अभी पुष्टि नहीं हुई है।

इस घटना से इलाके में सनसनी फैल गई। वहीं बच्ची मेडिकल कॉलेज अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ रही है। पुलिस ने बच्ची के पिता की शिकायत पर एक आरोपी को हिरासत में लिया है और पूछताछ कर रही है। पुलिस ने बच्ची के बयान पर केस दर्ज कर बाकी आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।