खेत बना खूनी अखाड़ा, जमीन विवाद में दो गुट भिड़े, 25 लोग घायल

284
0
SHARE

पटना
डेस्क।
खेती का मौसम शुरु होते ही कैमूर में खूनी
भिड़ंत का आगाज होने लगा है। इसकी बानगी मंगलवार को उस समय दिखी जब जमीन विवाद को
लेकर दो गुटों के बीच हिंसक भिड़ंत में खेत ही खूनी अखाड़ा में तब्दील हो गया। इस
दौरान दोनों पक्षों के कुल 25 लोग घायल हो गए। इनमें महिलाएं भी शामिल हैं। यह
वारदात मोहनिया थानांतर्गत भिटी गांव में हुई। दरअसल धान की खेत में रोपनी को लेकर
एक ही खेत पर दो पक्ष के लोग आमने-सामने आ गए थे। इसके बाद जमकर मारपीट और
लाठी-डंडे चले। बाद में घाय़लों को इलाज के लिए अनुमंडल अस्पताल ले जाय़ा गया। वहां
मौजूद डॉक्टर के मुताबिक कुल 15 घायलों को अस्पताल में लाया गया। इनमें 5 लोगों की
हालत गंभीर थी। उन्हें फर्स्ट ऐड के बाद बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया गया है।

77
डिसमिल जमीन का विवाद, दो पक्ष कर रहे अपना-अपना दावा

घायलों
ने बताया कि भिटी गांव में लगभग 77 डिसमिल जमीन का विवाद है। इस विवादित जंमीन पर
दो पक्ष अपना-अपना दावा कर रहे हैं। तनावपूर्ण हालात को देखते हुए कुछ समय पहले पहले
एक पक्ष ने अनहोनी का आशंका जताते हुए मोहनिया थाने में आवेदन देकर उचित कार्रवाई
की गुहार लगाई थी। हालांकि नतीजा सफर ही रहा। पुलिस के स्तर से दोषिय़ों पर
कार्रवाई नहीं की गई। साथ ही इस जमीन विवाद को लेकर विधि-व्यवस्था पर प़ड़ने वाले
विपरित प्रभाव को भांपने-आंकने में भी पुलिस चूक गई। नतीजा सामने है। चश्मदीदों के
मुताबिक दूसरा पक्ष जबरन खेत में जुताई करने के लिए पहुंच गया। आखिरकार वहीं हुआ
जिसकी आशंका थी। दोनों पक्षों के आमने-सामने आते ही खेत रणभूमि में तब्दील हो गया।

हालात
पर पुलिस की नजर – डीएसपी

मोहनिया
डीएसपी रघुनाथ सिंह ने बताया घटना के बाद दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ थाने में
लिखित शिकायत की है। आरोपों की जांच की जा रही है। प्रथम दृष्टया आपसी विवाद में
मारपीट हुई है। दोनों पक्षों से कुछ लोग घायल हुए हैं। घायलों का इलाज मोहनिया
अनुमंडल अस्पताल में चल रहा है। हालांकि समाचार लिखे जाने तक खूनी भिड़ंत के मामले
में किसी आरोपी को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई थी।