चिराग का दावा ‘बिहार में लोकसभा से पहले विधानसभा का होगा चुनाव’

148
0
SHARE

बोलें जदयू के कई विधायक मेरे संपर्क में, जल्द ही जदयू में हो सकती है ‘बड़ी टूट’

डेस्क /समस्तीपुर- पूरे बिहार में लोजपा की ओर से शुरू की गई ‘आशीर्वाद यात्रा’ के दौरान लोजपा सांसद चिराग पासवान आज समस्तीपुर पहुंचे। इससे पहले ‘आशीर्वाद यात्रा’ दौरा करते हुए मोरवा प्रखंड के हलई, चकलालशाही, पटोरी प्रखंड के सिरदिलपुर, सुपौल का दौरा करते हुए आज समस्तीपुर पहुंचे।

‘आशीर्वाद यात्रा’ को लेकर उनके गुजरने वाले रास्तों पर जगह-जगह कार्यकर्ताओं ने बैनर, पोस्टर, फ्लैक्स, होर्डिंग आदि लगाते हुए जोरदार स्वागत किया। चिराग ने भी जगह-जगह आयोजित कार्यक्रम में लोगों व कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट करते हुए आशीर्वाद यात्रा शुरू करने की जानकारी दिया। वहीं परिसदन में कार्यकर्ताओं से संवाद भी किया।

‘आशीर्वाद यात्रा’ के दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए चिराग पासवान ने सीएम नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा। कहा कि बिहार में लोकसभा चुनाव से पहले ही विधानसभा चुनाव होगा। उसकी भूमिका तेजी बनने लगेगी। जिस तरह से जनता दल यूनाइटेड व सीएम नीतीश कुमार ने अपने ही नेताओं के साथ धोखा किया। जिस तरह से पशुपति कुमार पारस के नाम को ज्यादा प्राथमिकता दी। क्योंकि चिराग पासवान ने आपको विधानसभा चुनाव में नुकसान पहुंचाया। तीसरे नंबर की पार्टी बनाया। आपके आधे से ज्यादा सिटिंग मंत्री व विधायक को हराने के काम किया। सिर्फ इसी रंजिश को निकालने के लिए आपने मेरे परिवार के एक सदस्य को मंत्री बनाने के लिए अपने ही पार्टी के नेताओं को छोड़ दिया। मेरा दावा है कि बहुत जल्द जेडीयू में बड़ी टूट के साथ पुनः विधानसभा चुनाव होगा। जेडीयू के कई विधायक व नेता अब भी मेरे सम्पर्क में हैं।

वहीं, अपने चाचा पशुपति कुमार पारस पर भी निशाना साधते हुए कहा कि चाचा को पार्टी के संविधान की जानकारी नहीं है। वहीं पार्टी के प्रति समर्पण भी नहीं है। इनका एकमात्र लक्ष्य मंत्री बनना था। इसके लिए चाचा ने अपने भाई, परिवार, पार्टी की पीठ में खंजर भौंकने का काम किया है। चिराग पासवान ने अपने चाचा के केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने के सवाल पर सभी को अपनी ओर से बधाई व शुभकामना दिया साथ ही कहा कि अगर चाचा बिजेआई, जेडीयू व निर्दलीय के रूप में मंत्रीमंडल में शामिल किये गए होंगे तो कोई बात नहीं है। अगर लोजपा कोटे से जो मेरे दिवंगत पिता रामविलास पासवान के निधन पर खाली हुई सीट से मंत्री बने हैं, तो हमलोग आपत्ति दर्ज करते हुए न्यायालय जाएंगे।

अगर वह अपने आपको लोजपा का सांसद बोलेंगे तो गलत है। जिनको मेरी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने निकाल दिया है। उसके बाद अगर इस नाम का इस्तेमाल होता है तो हमलोग कार्रवाई करेंगे।