सरकार के आदेश पर मैडम आइएस उतरी सड़क पर, बालू माफियाओं और संलिप्त अधिकारियों में मची खलबली

687
0
SHARE

दर्जनों अवैध बालू लदे ओवरलोडिंग ट्रकों पर की कार्यवाही

कैमूर- आईएएस अमृषा बैंस ने बीते बुधवार को कैमूर जिला के राष्ट्रीय राजमार्ग पर अवैध ओवरलोडिंग का खेल बालू माफियाओं के द्वारा जारी होने की सूचना मिलने पर अनुमंडल पदाधिकारी खुद ही सरकार के कड़े आदेश का पालन कराने के लिए सड़क पर उतर गई। अनुमंडल अधिकारी व मोहनियां एसडीपीओ ने आनन- फानन में जाकर दस 14 चक्का अवैध बालू लोड ट्रक को दुर्गावती थाना क्षेत्र के एनएच से जप्त कर लिया। जब अधिकारियों की गाड़ी ट्रक के पास पहुंची तो चालक भाग खड़ा हुआ।

घंटों मशक्कत करने के बाद पुलिस ने सभी गाड़ियों को जप्त कर मोहनियां समेकित जांच चौकी के यार्ड कानूनी कार्रवाई के लिए लाया गया। इस तरह के कार्रवाई से बालू माफिया और चेक पोस्ट पर बालों को रोकने वालों के लिए ड्यूटी में तैनात अधिकारियों में हड़कंप मच गया। बालू माफिया अपनी ट्रकों को छोड़ भाग खड़ा हुए।


जांच में सड़क पर उतरी अमृषा बैंस

जबकि चेक पोस्ट पर तैनात पुलिसकर्मियों के बीच चर्चा का विषय बन गया कि किस पर गाज गिरेगी, किसके ड्यूटी में पार हुए ट्रक। सबसे बड़ा सवाल यह खड़ा होता है, कि कैमूर जिले में मजिस्ट्रेट सहित आधा दर्जन अधिकारी ओवरलोडिंग और अवैध ट्रकों को रोकने के लिए लगे हुए लेकिन इन सारे लोगों को पार करके ट्रक उत्तर प्रदेश के सीमा के नजदीक पहुंच जाता है। जबकि जांच चौकी पर 24 घंटे ओवरलोडिंग की जांच करने के लिए मजिस्ट्रेट और पुलिस बल तैनात है।

वही, अनुमंडल अधिकारी अमृषा बैंस बताती हैं की बालू लदे ओवरलोडिंग अवैध ट्रकों पर अभियान चलाकर पकड़ा जा रहा है। यह ट्रक द्वारा अवैध बालू का परिचालन किया जा रहा 14 चक्का ट्रक बिहार राज्य में गिट्टी और बालू की ढुलाई नहीं कर सकते है। यह अवैध है। अभी 10 ट्रक को पकड़ा गया है और यह अभियान निरंतर जारी रहेगा। जी भी दोषी रहेंगे चाहे वह अधिकारी ही क्यों न हो। ड्यूटी में ट्रक चेक पोस्ट पार हुए हैं, उन पर भी जांच करके सख्त कार्रवाई होगी।

वहीं, जिला खनन पदाधिकारी बताते हैं कि 10 चक्का से ऊपर के बालू लदे ओवरलोड अवैध ट्रकों पर ₹200000 का समन शुल्क और माइनिंग का जो भी फाइन होता है वह किया जाएगा। सारी जब्त ट्रकों पर कानूनी कार्रवाई किया जाएगा।