मुहल्ले का नाम “राजनीति नगर” और घरों में बनती थी शराब : पुलिस ने तीन घरों को किया सील

184
0
SHARE

पटना
डेस्क।
घर के अंदर भोजन के साथ ही देसी शराब भी
बनती थी। … जी हां। बुधवार को इसका खुलासा उस समय हुआ, जब राजगीर के राजनीति नगर
मुहल्ले में पुलिस ने छापेमारी की। राजगीर थानाध्यक्ष दीपक कुमार के नेतृत्व में
पुलिस दस्ते ने पहले पूरे मुहल्ले की घेराबंदी की फिर सर्च ऑपरेशन चलाया। इस दौरान
तीन घरों में देसी शराब बनाने का पता चला। वहां देसी शराब, उसे बनाने के लिए
आवश्यक बर्तन व अन्य उपकरण भी मिले। इसके बाद पुलिस ने बोतल चौधरी, अर्जुन चौधरी व
लल्लू चौधरी के मकानों को सील कर दिया। साथ ही राजगीर थाने में एक्साइज एक्ट व
अन्य कानूनी प्रावधानों के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।  

दो
महिलाएं गिरफ्तार, बनाती थी शराब

छापेमारी
के दौरान राजगीर थाने की पुलिस ने दो महिलाओं सुगिया देवी (पति बोतल चौधरी) और
कौशल्या देवी (अर्जुन चौधरी) को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपी महिलाएं शराब बनाते
हुए रंगेहाथ पकड़ी गई। मौके से 11 लीटर देसी शराब के साथ ही उसे बनाने वाले उपकरण
भी जब्त किए गए। हालांकि पुलिस के आने के पहले ही एक अन्य धंधेबाज लल्लू चौधरी
मुहल्ला से बाहर किसी काम से निकल गया था।

नालंदा
में पहली बार
: छापेमारी के बाद एक साथ तीन मकान सील

राज्य
में शराबबंदी लागू होने के बाद नालंदा जिले में ऐसा पहली बार हुआ है, जब पुलिस ने
छापेमारी के बाद शराब के धंधे में लगे तीन मकानों को एक साथ सील कर दिया है। पुलिस
की ताजा कार्रवाई से खासकर राजगीर इलाके के शराब माफिया के सिंडिकेट की बेचैनी बढ़
गई है। इस बीच राजगीर थानाध्यक्ष दीपक कुमार ने स्पष्ट कर दिया है कि अवैध शराब के
खिलाफ पुलिस की मुहिम आगे भी जारी रहेगी। इसमें शामित धंधेबाजों को बख्शा नहीं
जाएगा।