विधान सभा में गूंजा मेयर की हत्या का मामला, आरजेडी ने कहा – कुशासन की सरकार

159
0
SHARE

पटना
डेस्क।
राज्य के उप मुख्यमंत्री तारकिशोर
प्रसाद के गृह जिले कटिहार में हुई मेयर शिवराज पासवान की हत्या का मामला शुक्रवार
को विधान सभा में गूंजा। विपक्षी दलों ने इस मुद्दे को उठाते हुए कहा कि राज्य
सरकार अपराध नियंत्रण में पूरी तरह फेल हो चुकी है। आरजेडी के विधायक ललित यादव ने
यहां तक कह डाला कि राज्य में सुशासन नहीं कुशासन की सरकार है। कांग्रेस ने भी
सरकार की साख से लेकर पुलिस की हनक और सिस्टम पर सवाल खड़े किए।

आरजेडी
विधायक ने सरकार से मांगा इस्तीफा

आरजेडी
विधायक ललित यादव ने कहा कि कई हत्याएं हुई हैं। कल मेयर की हत्या हुई। उसके पहले दनियावां में 11
बजे दिन में अरविंद कुमार को उनके ऑफिस में घुस कर गोली मार दी गई। वे अभी जीवन और मौत से जूझ रहे हैं।
इस सरकार को सत्ता में बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। सरकार को
इस्तीफा देकर चले जाना चाहिए। शुरू से ही कह रहे
हैं कि राज्य में नाम के लिए सुशासन है। असलियत में कुशासन की सरकार है।

खत्म
हो गया है सरकार और पुलिस का इकबाल – शकील अहमद

कांग्रेस
नेता शकील अहमद ने कहा चारों तरफ से गोली-बारूद और लूट-हत्या की खबरें सामने आ रही हैं। सरकार और पुलिस का इकबाल खत्म हो गया है। कटिहार मेयर
की हत्या का कारण कुछ भी हो,
 पर सवाल यह है कि गोली चली क्यों?
अगर पुलिस का इकबाल रहता तो इस तरह गोली
मार कर हत्या नहीं होती। ऐसा इसलिए हो रहा क्योंकि मुजरिम सरेआम घूम रहे हैं। पकड़े
नहीं जा रहे। कटिहार एसपी से भी पूछना चाहिए। इसी तरह की घटना सुनौली में भी हुई
थी, जहां एक व्यवसायी
को तीन गोली मारी गई। पांच दिन पहले ही
एसपी को पत्र लिखा था। कुछ नहीं किया गया। भ्रष्टाचार की पराकाष्ठा है। मेरिट
के बजाय रुपये लेकर पुलिसकर्मियों का ट्रांसफर किया जा रहा है। सरकार पहले इसको
सुधारे।
यह बहुत ही जघन्य अपराध है।