प्रसव के दौरान महिला की मौत, गुस्साए लोगों ने की अस्पताल में तोड़फोड़, डॉक्टरों को पीटा, सड़क जाम, पुलिस से हाथापाई

94
0
SHARE

पटना
डेस्क।
प्रसव के दौरान महिला की मौत हो गई। लखीसराय
के कबैया इलाके में स्थित प्राइवेट क्लनिक साईं सेवा सदन में हुई इस घटना के बाद परिजनों
के साथ ही अन्य लोगों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया।
क्लिनिक में तोड़फोड़ करने के साथ ही वहां मौजूद डॉक्टरों की पिटाई कर दी। फिर
आक्रोशित भीड़ ने सड़क जाम दिया। लोग आरोपी डॉक्टर की गिरफ्तारी की मांग करने लगे।
जानकारी मिलते ही एसडीपीओ रंजन कुमार और कबैया थानाध्यक्ष राजीव कुमार दल-बल के
साथ पहुंचे और जाम हटाने की कोशिश की। इस पर भड़के परिजनों की पुलिस से नोकझोंक से
लेकर हाथापाई तक हो गई। आखिरकार अफसरों ने किसी तरह समझा-बुझा कर लोगों को शांत
कराया। इसके बाद सड़क जाम समाप्त हुआ।

भीड़
की पिटाई से एक डॉक्टर की स्थिति गंभीर

भीड़
की पिटाई से क्लिनिक में मौजूद डॉ. एस. प्रसाद गंभीर रुप से घायल हो गए। उन्हें
इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डॉक्टर एस. प्रसाद का कहना है कि
प्रसव के बाद देर रात अचानक प्रसूता की तबियत बिगड़ गई और मौत हो गई। इसके बाद परिजनों
ने बेरहमी से मारपीट कर दी।

परिजनों
का आरोप
: प्रसव के बाद प्रसूता को नहीं देखने आए डॉक्टर

दरअसल
बिलोरी गांव निवासी शीलम कुमारी को बीते शुक्रवार की दोपहर प्रसव के लिए सदर
अस्पताल ले जाया गया था। वहां स्थिति बिगड़ते देख परिजन साईं हॉस्पिटल में ले गए। शाम
में महिला ने लड़के को जन्म दिया। इसके बाद देर रात अचानक प्रसूता की तबियत बिगड़ने
लगी और उसकी मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि डॉक्टर प्रसव के बाद महिला को देखने
नहीं आए और उचित देख-रेख के अभाव में प्रसूता की मौत हो गई।

जांच
की जा रही है – एसडीपीओ

मौके
पर पहुंचे एसडीपीओ रंजन कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। प्रसूता की
मौत के बाद लोगों ने अस्पताल मे तोड़फोड़ और चिकित्सक के साथ मारपीट की है। शव को
पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया है।