गया के वज़ीरगंज में एक अनोखी शादी

7980
0
SHARE

गया/ संवाददाता- गया के वज़ीरगंज में एक अनोखी शादी देखने को मिली है। शादी में आये सैकड़ो बारातियों को स्टेज से ही दुल्हन ने सम्बोधित किया। कहा की हर बेटी के भाग्य में पिता होता है लेकिन हर पिता के नसीब में बेटी नहीं होती है।




Read More Gaya News in Hindi

इससे पहले वह वजीरगंज के आस-पास के क्षेत्रों में बेटी बचाओ- बेटी पढायो, दहेज के खिलाफ और एड्स के प्रति लोगों को जागरूकता करने का काम करती रही है। लेकिन कल रात खुद अपनी शादी में स्वीटी ने जयमाला स्टेज से ही दुल्हन की ड्रेस में बेटी बचाओ के प्रति लोगों को बताई। गया जिले के वजीरगंज प्रखंड के सिलबे गांव में रहने वाली स्वीटी पूरे जिले के लिए आइकॉन बनी है। वह चर्चित समाज सेवी डॉ. नवलेश सिंह की पुत्री है। स्वीटी अब तक सब कुछ लिक से हटकर की है। यहां तक कि वह खुद अपनी शादी में भी जयमाला स्टेज से दुल्हन की ड्रेस में खड़े बारातियों को सम्बोधित किया। स्वीटी बचपन से ही अपने पिता के साथ-साथ सामाजिक कार्यो में भाग लेती रही है। समाजिक कार्यक्रमों में जाया करती थी और धीरे-धीरे वह खुद कई एनजीओ से जुड़ी। कई गॉव में जाकर बेटी बचायो, दहेज़ आदि के प्रति जागरूकता लाने की प्रयास की।

Read More Bihar News in Hindi

शादी के बाद जब वह अपने ससुराल के लिए जाने लगी तो उससे पहले गया के एक अनाथालय में जाकर अनाथ बच्चों के बीच मिठाईयां बांटी और कही की अपनी ख़ुशी को परिवार के साथ मनाने में और एक अनाथ बच्चों के साथ खुशियां बांटने में जो सुकून मिलती है, वह कहीं और नहीं मिल सकती।