मोर के लिए आकर्षण का केन्द्र बना सहरसा का आरण गांव

1392
0
SHARE

सहरसा: बिहार के सहरसा जिले का आरण गांव इन दिनों काफी सुर्ख़ियों में है क्योंकि सात निश्चय यात्रा के दौरान17 तारीख को सहरसा दौरे पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी आरण गांव आएंगे। साथ ही वन विभाग की और से बनाई गई आरण गांव के मोर पर डॉक्यूमेंट्री फिल्म को देखेंगे।

Read More Saharsa News in Hindi

ग्रामीण इस बात से खुश है कि अब इस गांव का कायाकल्प बदलेगा और पर्यटन स्थल के रूप में इसे विकसित किया जाएगा। जदयू नेताओं का दौरा आरण गांव के जंगलों में मोर देखने को लेकर आना जाना शुरू हो चूका है।

Read Bihar News in Hindi

दरअसल वर्ष 1990 में गांव के ही कारी यादव एक जोड़ी मोर और मोरनी को पंजाब से पालने के लिए गांव लाए थे। जो आज के समय में सैकडों की संख्या में बढ़कर गांव में मनोरम छटा बिखेरती है। गांव वालों को इसके अंडे और जंगली जानवरों से काफी भय बना रहता है। क्योंकि जंगली जानवर मोर को काफी संख्या में अब नुकसान पहुंचाने लगे है।

जिसके कारण मोर अब गांव के जंगलों को अपना बसेरा बना लिया है। हालांकि इनके फसलों को मोर से नुकसान भी पहुंचता है फिर भी ग्रामीण इसे सहृदय बचाने की कोशिश में लगे है। अधिकारी भी कहते है कि उम्मीद है मुख्यमंत्री के आगमन से इस मोर वाले आरण गांव की सूरत बदलेगी और यहां का कायाकल्प होगा।