मांझी के जाने के बाद महागठबंधन ने चुनाव से पहले ही मान ली हार- मुकेश सहनी

376
0
SHARE

HAJIPUR: VIP पार्टी प्रमुख मुकेश सहनी ने कहा कि सीएम नीतीश अपने आप को विकास पुरुष कह रहे हैं।और समीकरण के साथ मुख्यमंत्री बन जाते हैं। परिस्थिति का मुख्यमंत्री बनते जा रहे हैं। ऐसा समीकरण सेट कर लेते हैं कि मुख्यमंत्री बन जाते हैं। मुकेश सहनी ने कहा केजरीवाल ने 5 साल ही काम किया और अपने दम पर 55 % वोट लेकर दोबारा मुख्यमंत्री बने। अगर मुख्यमंत्री अच्छा काम करें तो उसको गठबंधन करने की क्या जरूरत है।

बिहार विधानसभा चुनाव में लड़ाई की लकीर साफ़ है। एक तरफ महागठबंधन है तो दूसरी तरफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अगुवाई में NDA । शह मात की बिसात में खेमेबंदी जारी है। जीतन राम मांझी और उनकी पार्टी हम के NDA के खेमे में आने के बाद NDA चुनावी फतह का दावा कर रही है।

सब जानते है की जातीय समीकरणों के इंजन से चलने वाले बिहार की राजनीति वाली रेल उसी स्टेशन पर रूकती है जिसके पास समीकरणों का असली टिकट होता है।  और समीकरणों के इस खेल में नीतीश कुमार भारी दिख रहे हैं। अपने पुराने साथी, जीतन राम मांझी को वापस लाकर नीतीश कुमार ने अपने खेमे और NDA को मजबूत किया है। तो मांझी के जाने से महागठबंधन मानों हताश हो गई है।

महागठबंधन के घटक दल VIP पार्टी प्रमुख मुकेश सहनी ने तो यंहा तक कह दिया की नीतीश कुमार समीकरणों के असली खिलाड़ी है।    हर चुनाव में मुख्यमंत्री बनने का समीकरण सेट कर लेते है। मुकेश सहनी के बयान से हताशा साफ़ झलक रही थी। नीतीश को घेरने के लिए मुकेश सहनी को सीधे दिल्ली वाले केजरीवाल को बिच में लाना पड़ा। और उन्होंने कहा की अगर नीतीश में दम है तो केजरीवाल की तरह चुनाव लड़ के दिखाए।