समीक्षा बैठक में डीएम ने कई कर्मियों को लगाई फटकार, दस कर्मियों का रोका वेतन

95
0
SHARE

औरंगाबाद – ओडीएफ और आवास योजना को लेकर सोमवार को बारुण में डीएम राहुल रंजन महिवाल ने समीक्षात्मक बैठक की। जिसमें सभी प्रखंड के पदाधिकारी व कर्मी उपस्थित थे। जिलाधिकारी राहुल रंजन महिवाल ने बताया कि सितंबर में 75 प्रतिशत ओडीएफ का लक्ष्य तय किया गया था। कर्मचारियों की कार्य में लापरवाही के कारण लक्ष्य 68 प्रतिशत तक पहुंचा है जो कि दिए गए लक्ष्य से 7% कम है। हालांकि उन्होंने अभी बैठक में अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देश दिया हर हाल में पूरा करने को कहा है।

वहीं कार्य में लापरवाही बरतने के मामले में जिलाधिकारी ने बारुण के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, भोपतपुर पंचायत के विकास मित्र अरविंद कुमार, पंचायत सचिव राम कुंडल सिंह, धनगाई पंचायत की विकास मित्र सुनैना देवी, आवास सहायक रवि रंजन, पिपरा पंचायत के आवास सहायक उत्तम कुमार, रिउर पंचायत की विकास मित्र सुनीता कुमारी, जनकोप पंचायत के विकास मित्र रामजन्म कुमार, खैरा पंचायत की आवास सहायक विकास कुमार, बरडीह खुर्द पंचायत के आवास सहायक धीरेंद्र कुमार सहित दस कर्मियों के वेतन को बंद कर दिया गया है।

आवास योजना और निर्माण पर चर्चा करते हुए कहा कि बिहार सरकार ने 7 नवंबर से पहले सभी अधूरे मकानों को पूरा करने का लक्ष्य रखा है और उसी दिन गृह प्रवेश होगा। जिसके लिए उन्हें नल जल और शौचालय योजना का भी लाभ मिलना चाहिए। इसलिए काफी तेजी से कार्य कराया जा रहा है। समय रहते कार्य पूरा करा लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि अक्टूबर तक 5 सौ आवास पूरे करा लिए जाएंगे। जिलाधिकारी ने जोर देकर कहा कि हर हालत में गुणवत्ता का ध्यान रखना होगा नहीं तो कार्रवाई की जाएगी। डीएम ने नल जल योजना में हो रहे धीमे कार्य पर भी नाराजगी जताई। इस दौरान बीडीओ संजय कुमार, सीओ संजय कुमार अम्बष्ट के साथ अन्य लोग शामिल थे।