औरंगाबाद में होगी तीसरी आँख की निगहबानी

115
0
SHARE

औरंगाबाद – अब औरंगाबाद शहर का शुमार हाईटेक शहर के रूप में हो गया. खुशनुमा आबो हवा और गंगा जमुनी तहजीब वाले इस शहर में हुड़दंगियों एवं आपराधिक चरित्र के लोगों पर पुलिस अपनी नजर बनाये रहेगी. इसके लिए शहर के 64 स्थलों का चयन किया गया है जहाँ से पुलिस प्रशासन उपद्रवियों पर नजर रख सकेगी. अब औरंगाबाद की अधिकतर सड़कें तीसरी आँख यानी सीसीटीवी कैमरे की जद में आ गया है. कैमरे लगने से शहर की हर गतिविधि पर अब पुलिस की पैनी नजर रहेगी. साथ ही अपराध पर काफी हद तक नियंत्रण पाया जा सकेगा. सीसीटीवी कैमरे लगने से शहर में अब आपराधिक वारदातों में कमी आएगी क्योंकि शहर के विभिन्न स्थलों में लगे इन कैमरों की मदद से क़ानून-व्यवस्था को भंग करने वालों की शिनाख्त कर ली जाएगी और उन्हें पकड़कर जेल भेजा जायेगा.

गौरतलब ही कि अप्रैल माह में रामनवमी जुलूस के दौरान हिंसा फैली थी और सैकड़ो लोग इसमें नामजद बने थे और पुलिस ने सबके पहचान के दावे शहर के कई हिस्सों में लगे निजी कैमरे से किया था परन्तु शहर के अन्य कई जगहों पर हुए घटना में कैमरों के नहीं रहने के कारण कई उपद्रवियों की शिनाख्त नहीं हो सकी थी. लेकिन अब शहर के चप्पे-चप्पे पर लगे इन कैमरों की मदद से पुलिस के हाथ आसानी से अपराधियों के गिरेबान तक आसानी से पहुँच जायेंगे. पुलिस की इस व्यवस्था का शहरवासियों ने स्वागत किया है.