उतरी कोयल नहर के दक्षिणी भाग स्थित पंचायतों को अकालग्रस्त घोषित करने की उठी मांग

60
0
SHARE

औरंगाबाद – उत्तर कोयल नहर के दक्षिण स्थित कई ऐसे पंचायत हैं जो सूखे की विभीषिका झेल रहे हैं। इन क्षेत्रों को अकालग्रस्त क्षेत्र घोषित करने की मांग जनेश्वर विकास केंद्र ने उठाया है। इस मांग को मूर्त रूप प्रदान करने के लिए संस्था के केंद्रीय कार्यकारिणी की एक बैठक देव प्रखंड मुख्यालय स्थित सहदेव चौधरी पुस्तकालय में सचिव सिद्धेश्वर विद्यार्थी की अध्यक्षता में आयोजित की गयी। बैठक को संबोधित करते हुए सचिव विद्यार्थी ने कहा कि जिले के उतरी कोयल नहर के दक्षिण अवस्थित देव कुटुम्बा और नबीनगर के करीब बीस ऐसे पंचायत हैं जहां सिंचाई की सुविधा उपलब्ध नहीं होने के कारण धान की रोपनी तक नहीं हुई है। जिसके कारण वहां के किसानों की स्थिति भयावह हो गयी है। किसान सूखे की मार झेल रहे हैं।अतः इन पंचायतों को अकालग्रस्त क्षेत्र घोषित करने की मांग जिला प्रशासन और बिहार सरकार से किया गया।

इसके अलावे बैठक में औरंगाबाद जिला का नाम देव करने, सुर्य कुंड मोड़ देव से गोदाम तक की सड़क का निर्माण कराने, अदरी मोड से देव तक सड़क बनाने, कटैया नदी में पुल निर्माण कराने, जिला मुख्यालय में मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज की स्थापना कराने की भी मांग की गयी। बैठक में निर्णय लिया गया कि यदि जिला प्रशासन उपरोक्त मांगो पर विचार नहीं करती तो इन मांगों को पूरा कराने के लिये चरणबद्ध आंदोलन किया जाएगा। अन्यथा चरण बद्ध आंदोलन करने का भी निर्णय लिया गया। बैठक मे धनंजय सिंह, यशवंत कुमार अधिवक्ता, कृष्ण यादव, संजय चौरसिया, राजेंद्र सिंह, रतन तिवारी आदि शामिल थे।