कोर्ट परिसर में पेशी के लिए लाया जा रहा अपराधी बबलू दूबे की गोली मारकर हत्या

831
0
SHARE

बेतिया समाचार/ संवाददाता- (Bettiah News) बेखौफ होते अपराधी की खौफनाक वारदात से अब न्यायालय परिसर भी वंचित नहीं है। जहां लोग न्याय की गुहार लगाते हैं वहां भी अब अपराधी बेखौफ होकर घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। मानो अपराधियों ने सुशासन बाबू की राज की पूरी पोल ही खोल कर रख दी है।

Read More Bettiah News in Hindi

पुलिस-प्रशासन के लिए यह अपराधियों की खुली चुनौती कही जा सकती है। गुरूवार को कुछ ऐसे ही वारदात को अंजाम दिया है बेतिया के बेखौफ अपराधियों ने। बेतिया के न्यायालय परिसर में दिन दहाड़े खुलेआम उत्तर बिहार के चर्चित अपराधी बबलू दूबे की गोली मार हत्या कर दी और फरार हो गये। हत्या उस वक्त हुई, जब उसे एक मामले में पेशी के लिए बेतिया सिविल कोर्ट लाया गया था। इसी दौरान कोर्ट परिसर में दाखिल हुए हथियारबंद अपराधियों ने ताबड़तोड़ उसपर पांच गोलियां बरसा दी और असलहा लहराते हुए बस स्टैंड की ओर से फरार हो गये। इधर, गोली की आवाज सुनते ही कोर्ट परिसर में अफरा-तफरी मच गयी।
Read More Bihar News in Hindi

जिला जज अभिमन्यु लाल श्रीवास्तव, डीएम लोकेश कुमार सिंह, एसपी विनय कुमार भी मौके पर पहुंच मामले का जायजा लिये। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जानकारी के अनुसार, बबलू दूबे पर हत्या व अपहरण के दर्जनों मामले दर्ज हैं। गुरूवार को बेतिया कोर्ट में चल रहे दो मामलों में उसे पेशी के लिए लाया था। जहां प्रथम न्यायिक दंडाधिकारी कुमुद रंजन की कोर्ट में पेशी के बाद पुलिस ने उसे जैसे ही बाहर निकाला, वैसे ही अपराधियों ने उसपर फायरिंग शुरू कर दी। ताबड़तोड़ पांच फायर किये गये। इससे बबलू दूबे पुलिस अभिरक्षा में ही लहुलूहान होकर गिर पड़ा। पुलिस कर्मी जब तक संभलते तब तक सभी अपराधी फरार हो गये।

Read More Bettiah News

गोली लगने की सूचना पूरे जिले में फैल गयी। मंगलपुर-गोपालगंज पुल निर्माण कंपनी के दो कर्मी की हत्या के बाद बबलू दूबे जिले में चर्चित हुआ था। इसके अलावे मझौलिया के अहवरशेख के मुखिया जवाहिर साह की हत्या में भी बबलू दूबे शामिल था। मोतिहारी के दर्जनों हत्या के मामले उसपर दर्ज हैं। नेपाल के प्रसिद्ध व्यवसायी सुरेश केडिया के अपहरण में भी बबलू दूबे शामिल था। इसके संग ही आजाद हिंद फौज लिबरेशन फंड व अन्य नक्सली संगठनों से भी उसकी साठगांठ थी। एसपी विनय कुमार ने बताया कि बबलू दूबे को पेशी के लाया गया था। इसी दौरान उसकी हत्या पिस्टल की गोली से हुई है।

Read More Bihar News

बबलू दूबे की सुरक्षा में तैनात जवानों ने अपराधियों का पीछा किया, लेकिन अफरा-तफरी मचने से वह भागने में कामयाब रहे। हालांकि इसको लेकर जिले के सभी थानों को अलर्ट कर दिया गया है। लेकिन अब देखना ये है कि इन अपराधियों तक पुलिस की पहुंच कब तक हो पाती है और कब ये इनके गिरफ्त में आते हैं।