शहीदों के नाम एक दीप

369
0
SHARE

धनंजय झा

बेगूसराय – दिपावली और छठ के मौके पर शहीदो के नाम एक दीया जलाने की एक खूबसूरत परंपरा वर्षों से चली आ रही है। बिष्णुपुर चतुर्भुज पोखर के प्रांगण में चली आ रही इस पंरपरा में देश के लिए शहीद उन जवानो के नाम एक दीया जलाया जाता है, जिसने देश के लिए अपनी कुर्बानी दी है। इस कार्यक्रम में बच्चे, बुढे और जवान हर तबके के लोग शहीदो को नमन करते हुए उनके नाम से दिया जलाते है साथ ही साथ देश के लिए उनकी कुर्बानियों को याद करते है। यह पंरपरा लोगो के आर्कषण का मुख्य केन्द्र होता है।

बेगूसराय के बिष्णुपुर चर्तुरभुज पोखर पर छठ और दिवाली के मौके पर हर साल शहीदों के नाम दीया जलाने की एक खुबसुरत पंरपरा कायम है। शहीदों को याद करने की यह परंपरा पिछले कई सालो से चली आ रही है। बेगूसराय में यह परंपरा जहाॅ लोगों के आकर्षण का मुख्य केन्द्र होता है वही देशभक्ति का संदेश भी देता है।

बता दें कि बिष्णुपुर चतुरर्भुज पोखर पर देश के लिए कुर्बान उन शहीदों की प्रतिमा लगी है, जिन्होंने खुद को शहीद कर देश के लोगो को सुकुन की जिदंगी दी है। ऐसे शहीदों को हर साल दिपावली और छठ के मौके पर याद कर लोग उन्हे श्रद्धा सुमन अर्पित कर दिपावली और छठ की शुरूआत करते है। इस मौके पर लोग देशभक्ति के नारो के बीच जहाॅ भारत माता को याद करते है वही शहीदो पर फुल अर्पीत कर उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि देते है। इतना ही नहीं देश के शहीदों के नाम एक दिया जला कर उनकी कुर्बानियों के लिए उन्हे याद करते है। इसका एक मकसद शहीदो की कुर्बानियों से सीख लेकर देशभक्ति के लिए प्रेरित करना भी है। लोगों का मानना है कि अगर ये शहीद नहीं होते तो हम दिपावली छठ ही नहीं दुसरे पर्व भी नहीं मना रहे होते।