गणतिज्ञ वशिष्‍ठ नारायण सिंह से पीएमसीएच में मिले पूर्व सांसद पप्‍पू यादव, किया आर्थिक मदद

141
0
SHARE

पटना : जन अधिकार पार्टी के नेता राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने आज पीएमसीएच में इलाजरत बिहार के मशहूर गणितज्ञ वशिष्‍ठ नारायण सिंह से मुलाकात की। इस दौरान उन्‍होंने उनके परिजनों को आर्थिक मदद भी की और कहा कि वशिष्‍ठ नारायण सिंह बिहार के गौरव हैं। लेकिन राज्‍य सरकार द्वारा उनकी प्रतिभा की हमेशा से अनदेखी की गई है, जो दुर्भाग्‍यपूर्ण है। एक समय हमने वशिष्‍ठ बाबू को हमने मधेपुरा यूनवर्सिटी में बुलाया था, मगर सरकार ने हमारी सुनी नहीं। वशिष्‍ठ बाबू इस सिस्‍टम में फिट नहीं बैठते हैं, इसलिए आज सरकार ने उन्‍हें नजरअंदाज कर दिया है।

पप्‍पू यादव ने पीएमसीएच के डेंगू वार्ड में उन मरीजों से भी मिले और स्थिति का जायजा लिया, जहां जलजलाव के बाद डेंगू के मरीजों की संख्‍या लगातार बढ़ रही है। इससे पहले पप्‍पू यादव ने आज सुबह बेली रोड स्थित कुसुम पुर में नहर के फोकलेन से जल निकासी के लिए नाला बनवाया और जल निकासी सुनिश्‍चित की। उसके बाद वे राजेंद्र नगर के वैशाली गोलंबर के पास एक और मेडिकल मेगा कैंप का शुभारंभ किया। इसका उद्घाटन फीता काटकर असंगठित मजदूर श्याम बाबू ने किया।

उद्घाटन के बाद सभा को संबोधित करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि जल कर्फ्यू की स्थिति ने कंकडबाग, राजेंद्र नगर, गोला रोड, राजीव नगर पाटलीपुत्रा कॉलोनी, नेपाली नगर समेत दर्जनों मुहल्लों में जलजमाव ने अमीरी-गरीबी के फर्क को समाप्त कर दिया। ऐसा लगा कि सरकार और नेता मौसम और भगवान पर भरोसा करके लोगों को जल कैदी बनने पर मजबूर किये। हर घर और बच्चे के आंसू का भी नेताओं ने ख्याल नहीं रखा। गरीब और बच्चे के आंसू की हाय सियासतदानों को बर्बाद करेगी। अफसोस इस बात का है कि भाजपा और जदयू राजनीतिक जुगाड़ के लिये समझौता तो कर ली, लेकिन पानी और जलजमाव के सवाल पर सियासत करने से बाज नहीं आ रही है। इसी सियासत ने आज पटना को बर्बाद कर दिया। कोई भी जिम्मेदारी लेने को तैयार नहीं है।

उन्‍होंने कहा कि सुशील मोदी और भाजपा की पटना के शहरी क्षेत्र में 30 वर्षों से प्रतिनिधित्व हैं, लेकिन अफसोस तब होता है, जब सुशील मोदी के पड़ोसी बच्चे ने रो-रो और गिडगिडाकर चीखते रहा-अंकल बचा लो, लेकिन मोदी जी पत्नी और बहन के साथ बिना देखे सरकारी मोटरवोट पर बैठकर निकल गये। उसके बाद अपने कर्मचारी और पड़ोसी को भी मुसीबत में देखना मुनासिब नहीं समझा। मैंने स्वयं उनके कर्मचारी, सुरक्षाकर्मी के साथ ही पड़ोसियों को खाना-दूध और जरूर सामान पहुंचाते रहे और फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाते रहे। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार माफिया और नवरत्न अधिकारियों के प्रभाव में हैं, जिसकी वजह से यह आफत आई। जिनको राजनीति करनी है, करें। मुझे तो सिर्फ संकट में जी रहे लोगों के साथ खड़ा रहना है।

उन्होंने कहा कि पूरे पटना में जलजमाव की स्थिति के लिये जो सिवरेज और मास्टर प्लान, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट सहित विधायकों एवं सांसदों के 30 वर्षों में दुरुपयोग हुए कोषों की जांच हाईकोर्ट के जज से कराई जायॆ। साथ ही उन्होंने को विधायक और सांसदों के लिये भी राइट टू रिकॉल बिल शीतकालीन सत्र मे लाने की मांग की, क्योंकि जनता को इस स्थिति में लाने के लिये सिर्फ विधायक और सांसद ही जिम्मेदार है। इस अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष अखलाक अहमद, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद, प्रदेश महासचिव सह प्रवक्ता श्याम सुंदर, प्रदेश महासचिव सह सदस्यता प्रभारी संदीप सिंह समदर्शी के अलावा मेडिकल कैम्प के डाक्टरों की टीम में डॉ रितेश कुमार, डा राजीव कुमार, डा रंजीत सिंह, डा प्रिय रंजन किशोर, डा अब्दुल राज्जिक, डा एस आलम, डा नमित कुमार, सहायिका पुष्पा देवी के अलावा स्वास्थ्य प्रभारी राकेश कुमार पंडित उर्फ मुन्ना भी शामिल थे।

वहीं, कंकड़बाग के मलाही पकड़ी में आज दूसरे दिन भी आम लोगों का निशुल्क इलाज चल रहा है और इसमें डॉ मनोज कुमार, डॉक्टर प्रकाश, डॉक्टर रामानुज सहित अन्य सहयोगी डॉक्टर तथा सहायक लोगों का इलाज कर रहे हैं। आज के इस मेगा मेडिकल कैंप का निरीक्षण करने के लिए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन पप्पू यादव पहुंचे थे। उन्होंने डॉक्टरों तथा आम लोगों की सेवा में लगे पार्टी के पदाधिकारियों के कार्यों की तारीफ की।