बिहार को बदनामी और अपमान के अलावे कुछ नहीं मिला – पप्पू यादव

246
0
SHARE

गया – मधेपुरा सांसद सह जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष राकेश रंजन यादव उर्फ पप्पू यादव ने गया परिसदन में प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि पास हुए बजट में बिहार को न विशेष राज्य का दर्जा मिला, न सवा लाख रुपये मिले, न बाढ़ पर चर्चाएं हुईं, न सुखाड़ पर चर्चा हुई और न ही रोजगार पर चर्चा हुई. बिहार को बदनामी और अपमान के अलावे कुछ नहीं मिला. बिहार के इतिहास में घोटाला और अपराध को छोड़कर रोजगार कहाँ है। बिहार का पानी और बालू दोनो वरदान था जो अभिशाप बन गया है। नीतीश कुमार, सुशील मोदी और रामविलास पासवान अब क्या 2022 में आएगी ये सब इसकी क्या गारंटी हैै? 2019 में क्या होगा कोई नही सोचता। किसानों को सब्सिडी में आसमान जमीन का फर्क है। तबतक 2022 में इतना हिन्दू मुसलमान का दंगा हो जाएगा कि मुद्दा ही गायब हो जाएगा.

भाजपा के कृषि मंत्री प्रेम कुमार पर पप्पू यादव ने कहा कि गया में 3 बच्चों का अपहरण कर 1 की हत्या हुई तो सिर्फ जाति पर मूल्यांकन कर रहे हैं कि हमारी जाति का था इसलिए पीड़ित परिवारों से नही मिलना है. बच्ची का परिवार साह जी है इसलिए कबतक जाति का खेल खेलियेगा. बिहार के सीएम ने भी भाजपा का इलाका समझ कर छोड़ दिया. इस घटना पर विपक्ष को आवाज उठानी चाहिए. यहाँ के जनप्रतिनिधि नपुंसक कायर हैं. यहाँ के जनप्रतिनिधियो को पत्थर मार-मार के मार देना चाहिए. नीतीश कुमार जनता से वोट भी लेते हैं और उन्हें जनता से डर भी लगता है. 5 मार्च को यह सवाल उठाएंगे. आगामी विधानसभा चुनाव में सभी विधानसभा क्षेत्रों से जन अधिकार पार्टी चुनाव लड़ेगी कोई भी समझौता नही होगा. सुप्रीम कोर्ट में एफिडेविट के साथ वादा करेंगे.

गया के गेवाल बीघा के बच्ची के साथ दुष्कर्म कर हत्या के पीड़ित परिवार के घर पहुँचे पप्पू यादव. उन्होंने नीतीश कुमार पर कहा कि वे माफिया के या दलाल के नेता हैं. उन्हें समय नही मिला. वे जाति के बात करने के लिए सिर्फ पैदा हुए हैं. इन नेताओं की कुकर्म और पप्पू यादव की लड़ाई होगी. मुख्यमंत्री सिर्फ दलाल, माफिया और अधिकारियों के अलावे कहीं जाते ही नहीं हैं और रही बात विपक्ष की तो वह अपने जाति के अलावे कहीं नही जाते. जनता भगवान भरोसे है.