बिहार में शादी समारोह में 250 और श्राद्ध में 50 लोग होंगे शामिल, सीएम नीतीश ने टीकाकरण व कोरोना जांच बढ़ाने के दिए निर्देश

42
0
SHARE

PATNA: बिहार के लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने शादी समारोह और श्राद्ध में लोगों के शामिल होने की संख्या तय कर दी है। अब शादी समारोह में 250 और श्राद्ध में 50 लोग शामिल होंगे। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को कहा कि जब अधिक से अधिक लोगों को कोरोना का टीका लग जाएगा तो इस बीमारी का असर काफी हद तक कम होगा। इसका हम लोगों को विश्वास है। टीकाकरण और कोरोना जांच दोनों को और अधिक बढ़ाने का निर्देश उन्होंने पदाधिकारियों को दिया। मुख्यमंत्री ने मंगलवार को कोरोना पर समीक्षा बैठक की और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी जिलों के डीएम एसपी से भी बात की।

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि कुछ कार्यक्रम तो करना ही है। लोगों के यहां शादी है या कोई श्राद्ध है, इसके लिए संख्या निर्धारित कर दी गई है कि कितने लोग शामिल हो सकते हैं। पर सभी को मास्क का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि जिन राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामले अधिक हैं और वहां से लोग बिहार लौट रहे हैं या उनके आने की संभावना अधिक है, इसको देखते हुए प्रखंड स्तर पर क्वारंटाइन सेंटर की व्यवस्था रखें।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि राज्य में रोज एक लाख कोरोना की जांच करें। इसमें ज्यादा से ज्यादा आरटीपीसीआर जांच करें। मीडिया से बातचीत में उन्होंने सोमवार को कहा कि जितनी तेजी से जांच होगी, लोगों को उतना ही फायदा होगा।

उन्होंने कहा कि कोरोना की स्थिति की रोज रिपोर्ट लेते हैं। दो ही चीजें हैं, वैक्सीनेशन व अधिकतम जांच कराना। टीकाकरण के बाद जांच की संख्या घटते-घटते 20 हजार पर पहुंच गई थी। हमने तुरंत जांच की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया है। कहा कि कोरोना दूसरे देशों और अपने यहां के कई प्रांतों में बढ़ रहा है। बिहार में भी बढ़ना शुरू हुआ है। लोगों को सामाजिक दूरी का पालन करना चाहिये। कुछ दिन के लिए सामूहिक कार्यक्रमों से परहेज करना चाहिए। एहतियातन एक सप्ताह के लिए स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं।