बिहार की छवि को बाहर के लोग नहीं बल्कि अंदर के लोग ही बिगाड़ रहे हैं- नीतीश कुमार

566
0
SHARE

पटना / संवाददाता- (Patna News) मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अवैध मानव बच्चे की तस्करी के सेमिनार में बोलते हुए कहा है कि गरीब बच्चे को लोग बहला-फूसला कर बाहर ले जाते हैं। फिर रोजगार दिलाने के नाम पर बाद में उनका शोषण किया जाता है। हमने इन काम को समाज कल्याण विभाग को देखने के लिए बोला है।

Read More Patna News in Hindi

हमारे यहां बाल संरक्षण आयोग भी बना हुआ है। कुछ लोग ट्रैफिकिंग करते हैं। नेपाल, बंगाल आदि जगहों से ट्रैफिकिंग होते रहते हैं। ऐसे मामले में किडनेपिंग का केस किया जाता है। कोई जब समाजिक कल्याण के लिए काम करता है, तो हम उसका बहुत सम्मान करते हैं।

Read More Bihar News in Hindi

बिहार के छवि को बिगाड़ने में बिहार के बाहर के लोगों का हाथ नहीं होता बल्कि बिहार के अंदर के लोग ही बिहार की छवि बिगाड़ते हैं। पूरे देश के क्राइम रिपोर्ट देखे तो बिहार का क्राइम में 22 वां स्थान है। बिहार के छवि को इस प्रकार से रखा जाता है कि जैसे देश में सबसे ज्यादा बिहार में ही क्राइम हो रहा हो। लेकिन आप को बता दें की देश में सबसे ज्यादा क्राइम दिल्ली में होता है। हर प्रकार के क्राइम में दिल्ली नम्बर वन है। वहां कोई स्टेट की सरकार नहीं है। वहां होम मिनीस्टर के अंदर में कानून व्यवस्था है।

Read More Bihar News

जबतक गरीबी और आर्थिक व सामाजिक असमानता, इन दोनों को ठीक नहीं कर लिया जाता, तब तक देश में कही कम ज्यादा अपराध होते रहेंगे। इसके लिए कड़े कानून भी बने हुए हैं। आज कल तो सोशल मीडिया बिना तथ्य के लिखे रहते हैं, जो मन में आवे लिख दीजिए। बाल श्रमिक तो बहुत ही कड़ी कानून है। हम तो कहेंगे कि पत्रकार भी दहेज नहीं लेने के लिए सपथ लें। शराबबंदी के बाद बिहार में क्राइम रेट कम हुआ है।

Read More Patna News

मीडिया में खूब आया की चूहा शराब पी गया। पता नहीं कौन दरोगा ने कह दिया की 9 हजार लीटर शराब जो थाने में था चूहा शराब पी गया। हमने पूछा क्या चूहा शराब पी गया ! सिर्फ पटना में 10 हजार लीटर शराब को बुलडोजर से नष्ट किया गया, हमने कहा कि मीडिया वालों को बुला लीजिएगा। हमलोग पब्लिसिटी से दूर रहते हैं, काम पर पूरा भरोसा है। लेकिन कुछ लोग तो काम कीये बिना ही पब्लिकसिटी करते हैं। हमको बहुत बुरा लगता है। कुछ काम तो करें फिर पब्लिसीटी करे ! सोशल मीडिया पर हमलोगों के बारे में न जाने लोग क्या-क्या प्रचार करते रहते हैं।