आधुनिकीकरण से लैस ब्लड बैंक का हुआ शुभारंभ

328
0
SHARE

आदित्यानंद आर्य की रिपोर्ट

सीतामढ़ी-  नन्दीपत मेमोरियल हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में आधुनिकीकरण से लैस जिले के प्रथम ब्लड बैंक का उद्घाटन लोक अभियोजक अरुण कुमार सिंह, सदर एसडीओ सत्येन्द्र प्रसाद, एमएलसी राजकिशोर कुशवाहा व संचालक डॉ वरुण कुमार और डॉ श्वेता ने संयुक्त रूप से फीता काट कर किया। इस दौरान सांसद रामकुमार शर्मा, विधायक सैयद अबू दोजाना, सदर डीएसपी डॉ कुमार वीर धीरेन्द्र, डुमरा बीडीओ जिला परिषद उपाध्यक्ष देवेन्द्र साह समेत दर्जनों मुख्य अतिथि उपस्थित थे। जिसके बाद सभी गणमान्यों द्वारा संयुक्त रूप से दीप जला ब्लड डोनेशन की शुरुआत की गई।

जहां सर्वप्रथम फिजियोथेरेपिस्ट डॉ राजेश कुमार सुमन, दवा व्यवसाई राजेश कुमार राजू समेत आधा दर्जन लोगों ने अपना रक्त दान किया। इस दौरान उद्घाटनकर्ता लोक अभियोजक सिंह ने बताया कि इस अस्पताल में ब्लड बैंक की स्थापना किये जाने से जिलावासियों को आपात स्थिति में सुगमता पूर्वक रक्त मिलेगा। जिससे कई जानें बचेंगीं, साथ ही उन्होंने इस उत्कृष्ट कार्य के लिए संस्थापक डॉ वरुण व डॉ श्वेता को इसके लिए शुभकामना दी है। 

इस सम्बन्ध में हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के संस्थापक डॉ वरुण ने बताया कि आज के समय में सभी चिकित्सकों को अपने मरीज के इलाज के लिए रक्त की आवश्यकता पड़ रही है। चाहे ऑपरेशन हो या प्रसव के दौरान मरीजों को रक्त की आवश्यकता पड़ती है, जो सीतामढ़ी में बड़ी मुश्किल से उपलब्ध हो पाता है। खासकर गरीब मरीजों के साथ बहुत बड़ी समस्या उत्पन्न हो जाती है।

इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए इस आधुनिकीकरण से लैश जिले के प्रथम ब्लड बैंक की स्थापना की गई है जहां सरकारी दर पर सभी ग्रुप के रक्त उपलब्ध रहेंगे। विशेष रूप से स्वेच्छा से रक्तदान करने वालों को डोनर कार्ड दिया जायेगा जो एक वर्ष के लिए मान्य होगा जिसका प्रयोग डोनर अपने परिवार, रिश्तेदार को जरुरत पड़ने पर निःशुल्क कर सकते हैं।

वहीं डॉ श्वेता ने बताया कि हॉस्पिटल के स्थापना काल से ही यहाँ मरीजों को बेहतर सुविधा मुहैया करने के लिए अस्पताल प्रबंधन दृढ़ संकल्पित है जिसको लेकर अस्पताल परिसर में पैथोलौजी, एक्स-रे, दवा, ऑक्सीजन समेत जिले के पहले आईसीयू यूनिट की स्थापना की गई है। इसी क्रम में मरीजों और जिलेवासियों को बेहतर सेवा प्रदान करने के उद्देश्य से इस ब्लड बैंक की स्थापना की गई है।

मौके पर चिकित्सक क्रमशः डॉ युगल किशोर प्रसाद, डॉ आलोक कुमार, डॉ मनोज, डॉ एसके वर्मा, डॉ सोनी कुमारी, डॉ अमित वर्मा, डॉ जय शंकर प्रसाद, डॉ अरुण कुमार, डॉ सीबी प्रसाद, डॉ दिनेश गुप्ता, डॉ एके तिवारी, डॉ सुरेश कुमार भावशिनका, डॉ निर्मल गुप्ता, डॉ रविन्द्र यादव, डॉ प्रतिमा आनंद समेत मो. शफीक खान, मो. आजम हुसैन, मो. जावेद खान, मो. मोफिज खान, मो. जलालुद्दीन खान, मो. जियाउद्दीन खान, उमेश चन्द्र झा, संजय कुमार, अभिषेक मिश्र शिशु, राजीव कुमार काजू, नीरज कुमार गोयनका, अतुल कुमार, आशुतोष कुमार, मुकेश ठाकुर, रामनरेश ठाकुर, कृष्ण विनोद ठाकुर समेत सैकड़ों लोग उपस्थित थे।