Sunday, December 17, 2017

    Customs

    आखिर क्यों की जाती हैं विश्‍वकर्मा पूजा !

    पटना: राजधानी पटना समेत सूबे भर में सृष्टि के शिल्पकार भगवान विश्वकर्मा की पूजा शनिवार को श्रद्धापूर्वक की जा रही है। मान्यता है कि देवताओं के लिए अस्त्र-शस्त्र, आभूषण और महलों का निर्माण भगवान...

    वट सावित्री की पूजा

    हर महिला की तमन्ना होती है कि उसका पति स्वस्थ, दीर्घायु और बलवान हो। इसी तमन्ना को पूरा करने के लिए महिलाएं वट सावित्री की पूजा करती हैं। बिहार के विभिन्न जगहों पर महिलाएं...

    Kozagra

    Mithilanchal districts in Bihar celebrate KOZAGRA with religious touch. This evening a special puja is performed to Maa Bhagwati and paan(betel) & Makhana(fox nut) are offered. After puja paan and Makhana, two of the...

    अचल सुहाग का हरतालिका तीज

    भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जानेवाले अखंड सौभाग्य की कामना के व्रत हरतालिका तीज की कथा इस प्रकार है – कथानुसार मां पार्वती ने अपने पूर्व जन्म में भगवान...

    जनेऊ पहनने के लाभ

    Acharya Bal Krishan Ji Maharaj पूर्व में बालक की उम्र आठ वर्ष होते ही उसका यज्ञोपवित संस्कार कर दिया जाता था। वर्तमान में यह प्रथा लोप सी गयी है। जनेऊ पहनने का हमारे स्वास्थ्य से...