Thursday, February 21, 2019

    Editor Speaks

    कहाँ से आते हैं ये दरिन्दे ?

    मेरा दुःख इतना गहरा है कि मुझे डर है कि कहीं मेरी पूरी शख्शियत ही न बदल जाए. हाँ मैं कई बार डर कर रात को जाग जाती हूँ. मुझे महसूस होता है कि...

    महात्मा गांधी के चम्पारण सत्याग्रह के सौ साल

    गांधी का चम्पारण फिर से अतित को जीवंत करने की कोशिश मे लगा हुआ है। 16 अप्रैल 1917 को मोतिहारी की धरती पर पड़े महात्मा गांधी के कदम मानो अंग्रेज शासकों के छाती पर...

    भोजपुरी फिल्मों को लगी है छूत की बीमारी

    मनीषा प्रकाश कहते हैं भाषा में समाज का सच दिखता है। योगसूत्र के रचनाकार पतंजलि ने भी कहा था कि भाषा का निर्माण लोक करता है। सिनेमा उस लोक का ही हिस्सा है और हर...

    मरता सिर्फ शहीद नहीं

    मरता देश का गुरुर है, स्वाभिमान है, उसका परिवार है गया। ना रौशनी, ना रास्ते और ना ही स्कूल, पर देशभक्ति का जुनून ऐसा की सेना में भर्ती हो गए। देश को आज़ाद हुए 70...

    फिल्म फेस्टिवल में क्यूं परोसा गया अंडररेटेड फिल्म ?

    फ्रांस है सिनेमा का जनक, क्यूं भूल गए लोग ? बहुत तामझाम से बिहार के अधिवेशन भवन में चल रहे अंतराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में भाग लेने मैं भी अपने स्टूडेन्ट्स के साथ शनिवार को गई...

    जिसने पाप ना किया हो…

    हर गलती करने वाले को खुद को सुधारने का मौका जरुर मिलना चाहिए। हालांकि ये गलती किस प्रकार की है इस पर निर्भर करता है। जिस प्रकार से एक राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित बाल...

    बेबाक और बुलन्द आवाज में गीताश्री ने रखी कलम श्रृंखला में अपनी बात

    कलम श्रृंखला के 22वें कार्यक्रम में आज पटना पहुंची जानीमानी लेखिका और पत्रकार गीताश्री। आज के कार्यक्रम में उन्होंने अपनी पुस्तक ‘डाउनलोड होते हैं सपने’ पर रंगकर्मी जयप्रकाश से बातचीत की। कार्यक्रम का आयोजन...

    आसमान से गिरे खजूर पर अटके

    अभी बहुत वक्त नहीं गुज़रे जब वो उनके साथ नज़र आने से बचते रहे। कई दिनों तक हालात इस शेर की तरह रहे -  खूब पर्दा है कि चिलमन से लगे बैठे हैं, साफ छुपते...

    तेजस्वी की पॉजिटिव राजनीति शहाबुद्दीन ही है !

    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का अपमान होता रहा। आरजेडी कोटे के मंत्री चुपचाप देखते रहे। बिहार के उपमुख्यमंत्री और आरजेडी खानदान के वारिस तेजस्वी यादव ने आज ट्वीट कर लिखा है कि वो नेगेटिव राजनीति...