Sunday, April 11, 2021

    History

    अब मंदार पर्वत पर ले सकेंगे रोपवे का मजा

    सुप्रिया सिन्हा पटना/बांका- अपनी प्राकृतिक छटा से देसी-विदेशी पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करने वाला मंदार पर्वत पर जल्द शुरू होने जा रहा है रोपवे सेवा. पर्वत की चोटी पर पर्यटकों के चढ़ने के लिए...

    भाई-बहन के बलिदान व प्रेम का प्रतीक अनोखा मंदिर

    पटना: भाई-बहन के प्रेम के किस्से तो बहुत है, बिहार के सीवान में इस प्रेम की पूजा के लिए एक मंदिर बनाया गया है। रक्षाबंधन के दिन यहां श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है। भाई-बहन...

    तो क्या इस गांव की रक्षा करते है चमगादड़!

    वैशाली: क्या चमगादड़ किसी की रक्षा कर सकते हैं? यकीन नहीं हो तो बिहार के इस गांव चले जाइए। यहां के लोगों का विश्वास है कि एक खास जगह हरने वाले चमगादड़ उनकी रक्षा...

    बिहार के इस गांव में अर्ध्य देने से कुष्ठ रोग से मिलती है मुक्ति

    नवादा: लोक आस्था का महापर्व छठ को लेकर कई परंपरा और मान्यताएं है। उन्हीं परंपराओं और मान्यताओं के बीच बिहार के नवादा जिले में स्थित बड़गांव में भगवान सूर्य को अर्ध्य देने की प्रथा...

    वाचस्पति मिश्र

    मिथिलांचल के महान पंडित वाचस्पति मिश्र। आचार्य शंकर के तत्काल परवर्ती युग में वह उत्पन्न हुए थे और कहा जाता है कि उन्होंने न्याय, वैशेषिक, सांख्य, योग, मीमांसा और वेदांत, इन छह आस्तिक एवं...

    आज भी सुरक्षित है सिन्हा लाइब्रेरी में भारतीय संविधान की प्रतिलिपि

    पटना भारतीय संविधान की प्रतिलिपि सिन्हा लाइब्रेरी में आज भी सुरक्षित है. हाथों से लिखी गयी संविधान की यह प्रतिलिपि दुर्लभ दस्तावेजों में से एक है, जिसे लाइब्रेरी ने काफी सहेज कर रखा है....

    22 सौ साल पुरानी कौन सी मंदिर है जहाँ की मूर्तियाँ खजुराहो से मिलती...

    दिलीप कुमार कैमूर - बैजनाथ धाम के तर्ज पर कैमूर जिले में भगवान भोलेनाथ की भव्य मंदिर है। जहां सावन के महीने में शिव भगवान को जल चढ़ाने के लिए श्रद्धालु बिहार ही नहीं...

    बड़गांव के सूर्य मंदिर: यहां नहाने से मिलती है कुष्ठ रोग से मुक्ति

    पटना: नालंदा का प्रसिद्ध ओंगारी और बड़गांव के सूर्य मंदिर देश भर में प्रसिद्ध हैं। माना जाता है कि बड़गांव सूर्यमंदिर की स्थापना दूापर युग में हुई थी। भगवान कृष्ण के पुत्र राजा साम्ब...

    .. अपने समय का सूर्य हूं मैं

    सुनूं क्या सिन्धु! मैं गर्जन तुम्हारा/ स्वयं युगधर्म का हुंकार हूं मैं! या, 'मर्त्य मानव की विजय का तूर्य हूं मैं/ उर्वशी अपने समय का सूर्य हूं मैं। युगधर्म का हुंकार भरने वाली ये पंक्तियां...

    Harihar Nath Temple: Confluence of Ganga and Gandak rivers

    A heady cocktail of devotion, trade, fun and frolic – commonplace occurrences around places of worship during religious festivals all over Bihar – is epitomized by the Harihar-Kshetra Mela in the mango groves and...

    Vishwa Shanti Stupa on Ratnagiri hill

    Jivaka Ambavana or Jivakarama Vihara: Jivaka was the royal physician of Magadha’s powerful rulers Bimbisara and Ajatashatru. Buddhist text narrate tales of his surgical skill. He had cured Bimbisara of many ailments. He was devoted follower...

    Sheikhpura: Bihar’s mini Tirupati temple

    Sheikhpura: A large idol of Lord Vishnu was discovered at Samas village of Sheikhpura district in 1992, and the Bihar State Board of Religious Trusts has urged the state government to construct a mini...

    नमक सत्याग्रह आन्दोलन में चौगाई लोगों की क्या थी भूमिका

    "हर गलियों हर कूचे में लग गई आग आजादी की। चलो हिन्दवों स्वागत करने देवी खड़ी आजादी की।।" 12 मार्च, 1930 को महात्मा गांधी साबरमती आश्रम से ऐतिहासिक दण्डी मार्च पर कूच किये। गांधी के दण्डी...

    153 वर्ष का हुआ जिला गया

    गया - आज 153वें गया जिला स्थापना दिवस को काफी धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर सुबह टॉवर चौक से रन फ़ॉर गया का फ्लैग ऑफ किया गया। रन फ़ॉर गया में कृषि...

    इस शहर में कभी होते थे खूबसूरत नक्काशीदार लकड़ी के खंभे

    पटना: पटना सिटी की सड़कों से गुजरते हुए अभी भी कुछ वैसी पूरानी इमारतें दिख जाती है। जिनके खंभे और बरामदे की रेलिंग लकड़ियों से बने हुए है। लेकिन एक ऐसा भी वक्त रहा...