Wednesday, September 19, 2018

    History

    Dr Rajendra Prasad’s speech on August 14 in Parliament

    CONSTITUENT ASSEMBLY OF INDIA - Volume-V Thursday, the 14th August 1947 The Fifth Session of the Constituent Assembly of India commenced In the Constitution Hall, New Delhi, at Eleven P.M, Mr. President (The Honourable Dr. Rajendra...

    That Darkness Still Stalks Our Dreams

    Amid the beginnings of an attempt to stifle all dissent, the PM must remember JP, one of his gurus M.G. DEVASAHAYAM On the midnight of June 25, 1975, prime minister Indira Gandhi nearly destroyed India’s democratic...

    COMMUNICATION ROUTES ACROSS BIHAR DURING HISTORICAL TIMES

    By Prabuddha Biswas The communication system of a region is regulated by its physical features. There are four major communication routes traversing the Indian subcontinent. The 1st line of communication runs from the mountain passes...

    बिहार: एक परिचय

    बिहार के सन्दर्भ में प्रथम जानकारी हमें “शतपथ ब्राह्मण” से मिलती है, जिसमें माधव विदेह नामक एक राजा का उल्लेख है जिसने मिथला के गौरवशाली साम्राज्य की आधारशिला रखी। बिहार की प्राचीनता इसके नाम से...

    सिक्के बताएंगे अगमकुंआ का इतिहास

    अगमकुंआ के सिक्कों को बाहर निकालकर यहां के इतिहास को खंगाला जाएगा। हालांकि दो बार पहले भी प्रयास हो चुके हैं, लेकिन उसमें सफलता नहीं मिली। इसलिए पुरातत्व निदेशालय, बिहार सरकार एक नई योजना...

    जन आंदोलन का जनक

    जयप्रकाश नारायण (जेपी) को आजादी के बाद जन आंदोलन का जनक माना जाता है। जेपी ने आजादी की लड़ाई में अंग्रेजों से लोहा लिया था। उन्होंने एक बार फिर क्रांति की मशाल अपने हाथ...

    पटना में 1621 में हुआ था पहला क्रिसमस मिलन

    राजधानी मे पहली बार 1621 में क्रिसमस मिलन समारोह का आयोजन किया गया था। उसी समय से ईसाई धर्म का प्रचार-प्रसार प्रदेश मे प्रारंभ हुआ लेकिन मात्र एक वर्ष में ही मिशन के लोगो...

    जरा याद करो कुर्बानी

    जिन्होंने पूरे देश की आजादी के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी आज उनके स्मारक के लिए थोड़ी सी जमीन तक नहीं है। १९४२ में शहीद हुए सात वीर जवानों में से एक शहीद...

    प्राचीन इतिहास की खोज

    काशी प्रसाद जायसवाल शोध संस्थान अब तक राज्य के चार हजार से अधिक स्थलों पर पुरातात्विक अन्वेषण करा चुका है। इस अन्वेषण की प्रक्रिया में राज्य के हर गांव को शामिल किया जा रहा...

    History of Bihar

    Ancient Times The land mass currently known as Bihar is very ancient. The name is derived from “Vihara” – a land of monasteries. Hindu, Buddhist, Jain, Muslim, and Sikh shrines abound in this ancient...