Sunday, April 21, 2019

    History

    सात शहीदों के प्रति श्रद्धांजलि

    सात शहीदों के प्रति श्रद्धांजलि आज घरों में चैन काटते भूल गये उन वीरों को कलम आज तो नमन करो उन आजादी के हीरों को। घर...

    जरा याद करो कुर्बानी

    जिन्होंने पूरे देश की आजादी के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी आज उनके स्मारक के लिए थोड़ी सी जमीन तक नहीं है। १९४२ में शहीद हुए सात वीर जवानों में से एक शहीद...

    लोगों के जीवन में रंग घोलती मधुबनी चित्रकला

    बिहार का मधुबनी जो चित्रकला के लिए विश्व प्रसिद्ध है। मधुबनी चित्रकला ने देश के अंदर ही नहीं बल्कि पूरे दुनिया में एक नया बाब लिखा है। प्रारम्भ में रंगोली के रुप में रहने...

    Madhepura: Singheshwar temple is one of the religious place

    The city of Madhepura is situated in the district of Bihar. The city is also administrative headquarter of district of Madhepura. Formerly this city was part of the district of Saharsa till it got...

    भारत छोड़ो आंदोलन और बिहार

    अंग्रेजों की क्रूर दमन नीति के कारण राष्ट्रीय भावना उग्रतर होती गई. सारे हिन्दुस्तानियों की नसों में क्रान्ति का रक्त दौड़ उठा. 7 अगस्त, 1942 को कांग्रेस के बम्बई अधिवेशन में "अंग्रेजों भारत छोड़ो"...

    पटना की शेरशाह मस्जिद की खूबसूत नक्काशी की बेजोड़ नमुना

    पटना: शेरशाह सूरी मस्जिद राजधानी पटना के अशोक राजपथ के करीब आधा किलोमीटर पूरब धवलपुरा मोहल्ले में शेरशाह की मस्जिद के नाम से विख्यात विशाल मस्जिद है। शेरशाह सूरी मस्जिद को शेरशाही भी कहा जाता है।...

    भीषण गर्मी से परेशान है तो आइए बिहार की कश्मीर ककोलत की हसीन वादियों...

    पटना: अगर आप गर्मियों की छुट्टी बिताने का मन बना रहे है तो आपको बिहार की उस खूबसूरत वादियों में लिये चलते है जिसे बिहार का कश्मीर कहा जाता है। जी हां आप सही...

    बैसाख पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा के रूप में क्यों मनायी जाती है.. जाने पूरी...

    बौद्ध धर्मावलंबियों के चार प्रमुख तीर्थस्थलों में से एक बोधगया प्रमुख अध्यात्मिक नगर है जहां शनिवार को पंचशील ध्वज से सजे बुद्ध भूमि बोधगया में बुद्धं शरणम… धम्म शरणम,.. और संघ शरणम गच्छामि( त्रिशरण)...

    मां ज्वालामुखी की महिमा अपरम्पार

    बिहार के दरभंगा जिला मुख्यालय से लगभग 30 किलोमीटर दूर कसरौरा में मां ज्वालामुखी मंदिर स्थित है। इस मंदिर की महिमा अपरम्पार है। यहां के ग्रामीणों के मुताबिक सैकड़ों साल पहले हिमाचल प्रदेश के...

    कैसे हुई बुढ़वा होली की शुरुआत ?

    पटना - बिहार की होली का अपना ही महत्व है. राज्य के विभिन्न हिस्सों में रंगों का यह त्योहार अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है. मगध की धरती पर होली के अगले दिन बुढ़वा...

    तो गया में तिलकुट की शुरूआत डेढ़ सौ साल पहले गोपी साव नामक हलवाई...

    गया - मकर संक्रांति को लेकर गया का तिलकुट व्यवसाय इन दिनों अपने पूरे परवान पर है। 14 जनवरी को मकर संक्रांति पूरे देश में मनायी जाती है। धार्मिक मान्यता के अनुसार इस दिन...

    राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने पटना में दो दिवसीय हिन्दी साहित्य सम्मेलन का किया उद्धाटन

    पटना: बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन की ओर से आयोजित दो दिवसीय सम्मेलन का उद्धाटन शनिवार को राज्यपाल रामनाथ कोविंद और गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने पटना में किया। इस कार्यक्रम में काफी संख्या...

    युवक का आत्म-बलिदान

    नमक आन्दोलन के साथ, बिहार में चौकीदारी टैक्स का विरोध, नशाबंदी और स्वदेशी आन्दोलन का काम भी किया जाता जाता था. 26 जनवरी 1930 को लाहौर में रावी नदी के किनारे कांग्रेस ने पूर्ण...

    History of Bihar

    Ancient Times The land mass currently known as Bihar is very ancient. The name is derived from “Vihara” – a land of monasteries. Hindu, Buddhist, Jain, Muslim, and Sikh shrines abound in this ancient...

    बुद्ध समृति पार्क वास्तुशिल्प का नायाब नमूना

    पटना: गंगा, सोन एवं गंडक नदी के संगम बसा बिहार की राजधानी पटना है। पटना को भारत की आजादी के बाद बिहार की राजधानी बनाया गया। आजादी से पहले और उसके बाद के पटना...