Wednesday, March 27, 2019

    History

    लोगों के जीवन में रंग घोलती मधुबनी चित्रकला

    बिहार का मधुबनी जो चित्रकला के लिए विश्व प्रसिद्ध है। मधुबनी चित्रकला ने देश के अंदर ही नहीं बल्कि पूरे दुनिया में एक नया बाब लिखा है। प्रारम्भ में रंगोली के रुप में रहने...

    पटना में जन्मे शेख दीन मोहम्मद ने इंग्लैंड में खोला था पहला भारतीय रेस्तरां

    पटना - पटना के शेख दीन मोहम्मद एक सहायक सर्जन, यात्री, लेखक और रेस्तरां संचालक थे. उनका जन्म 15 जनवरी, 1759 को पटना में हुआ था. 1794 में 15 जनवरी को ही उनकी अंग्रेजी...

    सोन भंडार गुफा का अदभुत रहस्य जिसमें छुपा है बेशकीमती खजाना

    बिहार के नालंदा से 12 किमी दूर राजगीर जो कई मायनों में बहुत महत्वपूर्ण है। यह प्राचीन शहर मगध की राजधानी था। यहीं पर भगवान बुद्ध ने मगध के सम्राट बिम्बिसार को धर्मोपदेश दिया...

    औरंगाबाद: प्रकृति की सुंदरता और कदम-कदम पर बिखरा इतिहास

    बिहार के औरंगाबाद सूबे के आकर्षक शहरों में से एक है। औरंगाबाद शहर ऐतिहासिक घटनाओं के विरासत से गहरा रिश्ता है। जीवंत अतीत की आभा और करिश्मा के बल पर ये शहर यहां आने...

    मुख्‍यमंत्री ने बिहार संग्रहालय की इतिहास दीर्घाओं व अन्‍य दीर्घाओं का किया लोकार्पण

    पटना- गांधी जयंती के अवसर पर आज बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने जवाहर लाल नेहरू मार्ग, बेली रोड, पटना स्थित बिहार संग्रहालय की इतिहास दीर्घाओं व अन्‍य दीर्घाओं का लोकार्पण विधिवत रूप से...

    मुजफ्फरपुर के गौरवशाली इतिहास को भी जानें तो जरा–

    प्राचीन लिच्छवी राजाओं की राजधानी वैशाली का निकटवर्ती मुजफ्फरपुर अघोषित रूप से बिहार की सांस्कृतिक राजधानी तो है ही इसके साथ भी इस जिले की अपनी एक विशिष्ट संस्कृति है, समृद्ध इतिहास है। मुजफ्फरपुर जहां...

    Banka: Mandar hill’s religious signicance

    Banka became a separate district on February 21, 1991. It as earlier a subdivision of Bhagalpur district. Mandar Hill: Puranas hold also that while Lord Vishnu covering the Universe in three steps as Vamana Avatar put...

    .. अपने समय का सूर्य हूं मैं

    सुनूं क्या सिन्धु! मैं गर्जन तुम्हारा/ स्वयं युगधर्म का हुंकार हूं मैं! या, 'मर्त्य मानव की विजय का तूर्य हूं मैं/ उर्वशी अपने समय का सूर्य हूं मैं। युगधर्म का हुंकार भरने वाली ये पंक्तियां...

    भारत छोड़ो आंदोलन और बिहार

    अंग्रेजों की क्रूर दमन नीति के कारण राष्ट्रीय भावना उग्रतर होती गई. सारे हिन्दुस्तानियों की नसों में क्रान्ति का रक्त दौड़ उठा. 7 अगस्त, 1942 को कांग्रेस के बम्बई अधिवेशन में "अंग्रेजों भारत छोड़ो"...

    क्या आप जानते हैं, अंग्रेजों ने दिया था दरभंगा हाउस नाम !

    पटना - गेरुए रंग से रंगी व खूबसूरत कलाकृतियाँ दरभंगा हाउस की सुंदरता में चार चाँद लगाने के साथ लोगों को अपनी ओरआकर्षित करती है. गंगा किनारे बना दरभंगा हाउस दरभंगा महाराजाओं का ठिकाना...

    स्वतंत्रता की यात्रा

    भारत की स्वतंत्रता के इतिहास में बिहार की अग्रगण्य भूमिका रही है। सच तो यह है कि बिहार की पुण्य भूमि प्रत्येक आन्दोलन का गर्भगृह रही है। एक ओर जहाँ...

    अब इको पार्क में नागपुरी झूले का उठाएं लुत्फ

    पटना: राजधानी पटना का इको पार्क जो पहले से ही लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा है। इस पार्क को और बेहतर बनाने के लिए नागपुरी झूला लगाया जा रहा है। जो पटना...

    महाबोधि वृक्ष पूरी तरह स्वस्थ, वन अनुसंधान विभाग की देख-रेख में रासायनिक छिड़काव

    अजीत गया वर्ल्ड हर्रिटेज में सम्मिलित महाबोधि मंदिर में पहुँची एफआरआई की टीम महाबोधि वृक्ष के स्वास्थ्य जाँच के लिए आए फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिक, महाबोधि वृक्ष का किया निरीक्षण। वैज्ञानिकों के देख-रेख में...

    मोहब्बत ऐसी कि चीर दिया पहाड़ का सीना

    "जिंदगी में तो सभी प्यार किया करते है, मर कर भी मेरी जान तुझे चाहुंगा" ऐसा ही एक प्यार बिहार में इतिहास बन गया। ऐसी मोहब्बत जिसके लिए पहाड़ का सीना फाड़ कर रास्ता...

    सात शहीदों के प्रति श्रद्धांजलि

    सात शहीदों के प्रति श्रद्धांजलि आज घरों में चैन काटते भूल गये उन वीरों को कलम आज तो नमन करो उन आजादी के हीरों को। घर...