Wednesday, January 16, 2019

    History

    वीकेंड पर बनाइए याहां का प्लान, अभी तो बाकी है छुट्टी

    देखते ही देखते रंगों का त्यौहार होली और गुड फ्राइडे बीत गया। सरकार ने इस बार छह दिनों की लंबी छूट्टी जो दे दी है। लोग इन छुट्टियों को बिताने के लिए देश के...

    अब इको पार्क में नागपुरी झूले का उठाएं लुत्फ

    पटना: राजधानी पटना का इको पार्क जो पहले से ही लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा है। इस पार्क को और बेहतर बनाने के लिए नागपुरी झूला लगाया जा रहा है। जो पटना...

    तख्त श्री हरमंदिर विश्व का दूसरा सबसे बड़ा तख्त

    बिहार की राजधानी पटना और सिख इतिहास में पटना साहिब का खास महत्व है। सिखों के दसवें और अंतिम गुरू, गुरू गोबिंद सिंह जी का जन्म यहीं 22 दिसंबर 1666 में हुआ। सिखों के...

    कहीं बाघों का वजूद तस्वीरों तक सिमटकर न रह जाए

    बिहार सरकार पर्यटकों को बढ़ावा देने की लगातार कोशिश करती आ रही है। बिहार का एक मात्र टाईगर रिजर्व को टाइगर टूरिज्म को विकसित करने का निर्णय लिया था। लेकिन वाल्मीकि नगर टाइगर प्रोजेक्ट...

    मंदिरों में शुमार बूढ़ानाथ में हुई शादी का रिश्ता रहता है अटूट

    भागलपुर - बूढ़ानाथ सिल्क सिटी भागलपुर का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है. यहाँ भगवान शिव का अत्यंत प्राचीन मंदिर है. मंदिर का तीन सौ वर्ष पुराना गौरवशाली इतिहास है. त्रेता युग की कथा से...

    दीदारगंज यक्षिणी की शताब्दी वर्ष

    विश्व विख्यात दीदारगंज यक्षी की प्रतिमा की प्राप्ति एक संयोग ही है। यह प्रतिमा गंगा नदी के किनारे पूर्वी पटना के दीदारगंज स्थित धोबी घाट से उदघाटित हुई, जो की धोबी घाट पर उल्टी...

    इस मंदिर में कभी द्रौपदी ने की थी पूजा

    पटना: बिहार के मोतिहारी शहर से 28 किमीटर दक्षिण-पश्चिम में स्थित अरेराज में भगवान शिव का प्रसिद्व मंदिर है जो सोमेश्वर शिव मंदिर कहलाता है। बिहार में तीन शिव धाम प्रसिद्ध हैं। जिनमें अरेराज...

    मोहम्मद गजनी ने देखा था ब्रह्मेश्वर नाथ का चमत्कार

    पटना: बिहार के भोजपुर- बक्सर जनपद के सीमा क्षेत्र में ब्रह्मपुर धाम से चर्चित बाबा ब्रह्मेश्वर नाथ का मंदिर प्राचीनतम मंदिरों में से एक है। जिला मुख्यालय से करीब 40 किमी की दूरी पर...

    मिर्चा चूड़ा : नाम तीखा लेकिन स्वाद बड़ा मीठा

    बेतिया - बेतिया पश्चिम चंपारण जिले का मुख्यालय है जो भारत-नेपाल सीमा पर स्थित सबसे बड़े शहरों में से एक है. 'बेतिया' शब्द 'बेंत' से उत्पन्न हुआ है जो कभी यहाँ बड़े पैमाने पर...

    पीर मनीहारी से पीरमुहानी बना पटना का चुड़ा मिल इलाका

    पटना: पटना का मशहुर पीर मनीहारी का इलाका जो कभी चुड़ा मिल के नाम भी जाना था अब वही इलाका पीरमुहानी के नाम से जाना जाता है। वैसे इस इलाके की पहचान पीर मनिहारी...

    पटना के मगध महिला महाविद्यालय में मिला 2000 वर्ष प्राचीन कुआँ

    पटना के अशोक राजपथ पर गाँधी मैदान के निकट स्थित मगध महिला महाविद्यालय में खुदाई के दौरान मिला जो दो हजार वर्ष पुराना है। चक्र कूप या रिंग वेल तकनीक पर यह कुआँ बना...

    राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने पटना में दो दिवसीय हिन्दी साहित्य सम्मेलन का किया उद्धाटन

    पटना: बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन की ओर से आयोजित दो दिवसीय सम्मेलन का उद्धाटन शनिवार को राज्यपाल रामनाथ कोविंद और गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने पटना में किया। इस कार्यक्रम में काफी संख्या...

    मुजफ्फरपुर के गौरवशाली इतिहास को भी जानें तो जरा–

    प्राचीन लिच्छवी राजाओं की राजधानी वैशाली का निकटवर्ती मुजफ्फरपुर अघोषित रूप से बिहार की सांस्कृतिक राजधानी तो है ही इसके साथ भी इस जिले की अपनी एक विशिष्ट संस्कृति है, समृद्ध इतिहास है। मुजफ्फरपुर जहां...

    बिहार में बदहाल क्रिकेट को संवारने में बीसीए को छूट रहे पसीने

    पटना: टी 20 वर्ल्ड कप अपने चरम पर पहुंच गया है। पूरा देश टी 20 वर्ल्ड कप के खुमार में पूरी तरह डूब गया है। और कामना कर रहे है कि यह टी-20 वर्ल्ड...

    गंगा-यमुनी तहजीब का संगम मनेर शरीफ दरगाह

    बिहार के मनेर शरीफ जो सूफी संत मखदमू यहया मनेरी के नाम से जाने जाते है। मनेर शरीफ खानकाह का इतिहास काफी पुराना है। देश में सूफी सिलसिले की शुरुआत का गवाह मनेर शरीफ...