हास्य लेखक तारक मेहता का निधन

897
0
SHARE

जानेमाने लोकप्रीय गुजराती हास्य लेखक, नाट्यकार और स्तंभ लेखक तारक मेहता का बुधवार को लंबी बीमारी के बाद 87 वर्ष की आयु में निधन हो गया| सब टीवी के चर्चित हास्य धारावाहिक “तारक मेहता का उल्टा चश्मा” भी मेहता के गुजराती कॉलम ‘दुनियां ने उंधा चश्मा’  से प्रेरित होकर सीरियल के निर्देशक असीत मोदी ने बनाया, जो घर-घर में काफी लोकप्रिय हुआ|

2008  से लगातार हास्य धारावाहिक “तारक मेहता का उल्टा चश्मा” का प्रसारण हो रहा है| तारक मेहता का जन्म गुजरात प्रांत में 29 दिसंबर 1929  को हुआ था| इन्होने साहित्य से बीए किया और एमए की पढ़ाई के लिए मुंबई चले गए| इसके बाद साहित्य लेखन की ओर उन्मुख हुए | सन 1971 से गुजराती पत्रिका ‘ चित्रलेखा’  में चालीस साल तक लेखन का कार्य किया | साहित्य में अतुलनीय योगदान के लिए तारक मेहता को 2015  में पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया था ।

तारक मेहता ने मरने से पहले अपने नेत्र को दान करने का इच्छा जाहिर का थी जिसको लेकर उनके परिवार वालों ने बुधवार को नेत्रदान करने का फैसला किया |  तारक मेहता अपने पीछे पत्नी इंदु, पुत्री इशानी सहित पूरा परिवार छोड़ गए | गुजरात की मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने तारक मेहता के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है |