नोटबंदी के खिलाफ सड़क पर उतरी कांग्रेस

428
0
SHARE

पटना: नोटबंदी के खिलाफ कांग्रेस पार्टी ने बुधवार को राजधानी पटना में विरोध मार्च निकाला। सूबे की महागठबंधन सरकार में शामिल कांग्रेस ने कारगिल चौक से जेपी गोलंबर तक पोस्टर बैनर के साथ सड़क पर उतरे कांग्रेसी नेताओं कार्यकर्त्ताओं ने मोदी सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की।

Read Latest news on Notebandi

प्रतिबंधित क्षेत्र में प्रदर्शन की कमान खुद प्रदेश अध्यक्ष सह शिक्षा एवं आईटी मंत्री अशोक चौधरी ने संभाल रखी थी। बाद में जेपी गोलंबर पर पीएम नरेन्द्र मोदी का पुतला फूंका गया। पत्रकारों से मुखातिब अशोक चौधरी ने कहा कि कालाधन के नाम पर देश के मजदूर किसानों को मुश्किल में डाल दिया गया है। देश की अर्थव्यवस्था धराशायी हो गयी है और पीएम मोदी ने अपनी छवि चमकाने के लिए लोगों को कतारों में लाकर खड़ा कर दिया है।

अशोक चौधरी ने कहा कि पार्टी आलाकमान के निर्देश पर बिहार में कांग्रेस गठबंधन सरकार में शामिल है और आलाकमान के आदेश पर कभी भी गठबंधन तोड़ा जा सकता है। हमलोग आलाकमान के निर्देश का अनुसरण करते हैं।

Read Latest News on Ashok Choudhary

नोटबंदी के खिलाफ सड़क पर उतरी कांग्रेस का कहना है कि पार्टी आम जनता की मुश्किलों के साथ है। कांग्रेस को कोई फर्क नहीं पड़ता कि कौन राजनीतिक दल उसके साथ है और कौन विरोध में।

अशोक चौधरी ने कहा कि हमारी पार्टी को किसी पहचान की जरूरत नहीं है। हम जनता की मुसीबत के वक्त साथ थे और रहेंगे। उन्होंने कहा कि कालेधन के मुद्दे पर सबको बोलने की पूरी छूट है। एक मुद्दे पर एक पार्टी का रूख दूसरे से अलग हो सकता है, इससे महागठबंधन की एकता पर असर नहीं पड़ने वाला है।

Read Patna News in Hindi

बिहार से भाजपा को भगाने के लिए गठबंधन किया गया था। हमने जनता के लिए गठबंधन किया था, सबकी अपनी-अपनी सोच होती है, कोई जरूरी नहीं कि गठबंधन के सभी दलों की सोच एक सी हो। कांग्रेस ने भी अबतक कालेधन पर रोक के खिलाफ अपना कोई बयान जारी नहीं किया है।

वहीं भाजपा ने गठबंधन तोड़ने की कांग्रेस की धमकी पर सीएम नीतीश कुमार से जवाब तलब किया है। वरिष्ठ भाजपा नेता नंद किशोर यादव ने कहा है कि सूबे में सत्ता की कुर्सी के लिए नापाक गठबंधन की सरकार चल रही है। सीएम नीतीश कुमार को बताना होगा कि वो काला धन के मुद्दे पर किसके साथ है?

भाजपा ने सरकार के मंत्री द्वारा प्रतिबंधित क्षेत्र में विरोध-प्रदर्शन और पीएम के पुतला दहन को आपत्तिजनक और कानून का उल्लंघन करार दिया है। नंद किशोर यादव का कहना कि भाजपा को इस मामले में सरकार की कार्रवाई का इंतजार है।