कांग्रेस पर बरसे सांसद रामकृपाल यादव, कहा- बिहार के विनाश का कारण है कांग्रेस

188
0
SHARE

PATNA: राजधानी दिल्ली में लॉकडाउन में फंसे बीजेपी सांसद रामकृपाल यादव बुधवार राजधानी ट्रेन से बिहार वापस आए. आने के साथ ही वे जनता सरोकार के काम में जुट गए हैं. शुक्रवार को उन्होंने राहत सामग्री से भरी एक ऑटो टेक्सी को अपने संसदीय क्षेत्र में प्रवासियों की मदद के लिए भेजा है. इस बीच उन्होंने मीडिया से बातचीत में कई बड़े बयान साझा किए हैं.

उन्होंने बिहार में होने वाले आगामी चुनाव को लेकर बड़ा बयान दिया है. रामकृपाल यादव ने सुशील मोदी के बयानों का सीधे तौर पर समर्थन किया है. वहीं पड़ोसी राज्य उत्तरप्रदेश में बसों पर हो रहे सियासत पर उन्होंने कहा कि इस प्रकरण में कांग्रेस एक्सपोज हुई है. यहां तक की उन्होंने बिहार की स्थिति को लेकर भी सीधे तौर पर कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है.

रामकृपाल यादव ने कहा कि आज से कुछ दिन पहले हमारे इलाके के जो गरीब तबके के लोग थे,उनके लिए राशन का व्यवस्था किया गया. लगभग 17 हजार परिवार थे जिनको राशन और राहत पहुंचाने का काम किया गया और मेरे अनुपस्थिति में मेरा बेटा इस काम को कर रहा था. मैं दिल्ली में लॉकडाउन में था और वहां से परसों ही राजधानी एक्सप्रेस से आया हूँ और आज से मैंने काम प्रारंभ किया है. मौजूदा समय में बड़े पैमाने पर जो प्रवासी आ रहे हैं, मेरा दायित्व बनता है कि मेरे संसदीय क्षेत्र से जो भी प्रवासी गुजरे उनकी मैं कुछ मदद कर सकूं. उनके लिए खाने का छोटा पैकेट देने का काम किया जा रहा है.

लॉकडाउन में राहत पहुंचाने को लेकर आमजनों को हो रहे असुविधा पर उन्होंने कहा कि कौन कह रहा है कि एक जनप्रतिनिधि ही राहत का काम कर सकता है राहत पहुंचाने से किसी को कोई नहीं रोका है. जो चाहे आगे आकर मदद कर सकता है कोई गलत सूचना लोगों को दे रहा है. ये बेबुनियाद आरोप है. सरकार सबको साथ लेकर चलती है और यह आपदा के समय चिंता का विषय है कि लगातार कोरोना संक्रमित मरीजो की संख्या बढ़ रही है अभी इससे कैसे निपटा जाए सरकार इस पर काम कर रही है.

वहीं विपक्ष के बयानबाजी के संबंध में उन्होंने कहा कि ये राजनीति का समय नहीं है. राजनीति में अभी 3 से 4 माह का समय है. वहां आरोप प्रत्यारोप लगाए पर अभी सभी को सहयोग करने की आवश्यकता है. सभी विपक्षी लोगो के सकारात्मक सहयोग की आवश्यकता है, अभी इसपर राजनीति नहीं होनी चाहिए.

यूपी के बस प्रकरण पर उन्होंने कहा कि इससे तो कांग्रेस की पोल खुली है. बिहार के नाश का कारण भी कांग्रेस पार्टी ही है. सबसे बड़ा विनाशकारी कोई है तो वो कांग्रेस दल है. बिहार की जो दुर्गति है और इतने बड़े पैमाने पर जो प्रवासी यहां से पलायन किये उनको कौन भेजा आप पहले की अपेक्षा आज की बिहार को तुलना कर देखे बहुत पहले सबसे समृद्ध राज्य बिहार था, जब झारखंड हमारे साथ था. आजादी के बाद कि जो कांग्रेस की सरकारें रही है, बिहार में और देश में उसी का पाप है आज बिहार के लोग भोग रहे हैं.

डिजिटल चुनाव को लेकर उन्होंने कहा कि चुनाव बाद का विषय है. आने वाले दिनों में इसके स्वरूप तय होंगे जिसे चुनाव आयोग तय करेगी विभिन्न पार्टियों के लोग तय करेंगे. लेकिन ये बात है कि जैसा पहले चुनाव हुआ करता था, अब निश्चित तौर पर उसमें बदलाव आएगा. जो माहौल है, लग रहा है डिजिटल चुनाव ही होगा. चूँकि लोगों से दूरी बनाकर रहना है ऐसे में सभाएं नहीं हो पाएंगी.

अगर डिजिटल चुनाव हुआ तो बीजेपी हर चीज के लिए तैयार बैठा है हम पूरे तत्परता के साथ अपने संगठन का मजबूतीकरण कर रहे हैं, बूथों को मजबूत कर रहे हैं अपने कार्यकर्ताओं को सचेत कर रहे हैं और मेरे समझ से बीजेपी का एक एक कार्यकर्ता पूरी मुस्तैदी के साथ विपक्ष को परास्त करने के लिए तैयार बैठा है जनता के सहयोग से.