बगहा में तटबंध टूटा

350
0
SHARE

बेतिया/ बगहा बगहा के पिपरासी तटबंध भितहा प्रखंड के चंदरपुर में 50 मीटर तक तटबंध टूट जाने से पानी गावों की तरफ़ तेजी से बढ़ रहा है. टूटे तटबंध को बचाने के लिए अभियन्ताओ की टीम काम कर रही है पर पानी की तेज धारा अभियन्ताओ की कोशिश पर पानी फेर दे रही है. अभियन्ताओं की असफ़लता को देखकर दर्जनो गाँव के लोग गाँव को खाली कर सुरक्षित जगह की तलाश में लगे हैं. बिहार के गाँव के साथ-साथ सीमावर्ती उत्तर प्रदेश के गाँव के लोग भी हरकत में आ गये हैं.

दूसरी तरफ बाढ़ से उबरे लोग सामान और परिजन को ढूँढने में लगे हैं. बेतिया/नरकटियागंज में एक नज़ारा दिखा जहां ट्रैक्टर पर पड़ी लाश को उसके परिजन घेरे हुए थे, पूछने पर पता चला कि वह नरकटियागन्ज के नरकटिया गाँव का रहने वाला था जो 12 तारिख के आये बाढ़ में मरा है और आज मिला है. शहर के कारोबारी आज अपनी-अपनी दुकान को खोल बाढ़ मे डूबे सामान को धूप में सुखाने में लगे थे. किताब, कपड़ा, लहठी-चूड़ी, पंखा, जूते-चप्पल, मिर्च-मसाला सब के सब रोड पर बिखरे हुये हैं. पूछताछ पर पता चला कि इसमे सिर्फ़ किताब इन्सुरेन्स में है. इस तरह से शहरवासी का जीवन पटरी पर तो लौटता दिख रहा है पर गाँवों का मंजर उसी तरह का है, अभी भी बाढ़ का पानी हटा नहीं है.