नालंदा की बेटी ने विदेशी धरती पर राज्य का नाम किया रौशन

664
0
SHARE

नालंदा: बिहार के नालंदा जिले की बेटी श्वेता शाही ने सातवें एशियन अंडर 18 गर्ल्स रग्बी चैंपियनशीप में भारत को पहली बार कांस्य पदक दिलाया। भारत को पदक दिलाने में श्वेता शाही का भी अहम योगदान रहा है।

Read latest News of Nalanda in Hindi

चैंपियनशीप में भारत को पहली बार कांस्य पदक हासिल हुआ है। श्वेता शाही के घर लौटने पर गांव वालों ने उनका भव्य स्वागत किया। श्वेता ने अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि सरकार से किसी प्रकार की सहायता नहीं मिली है बल्कि उनके पिता ने अपनी जमीन बेच कर खेल के क्षेत्र में आगे बढाया।

सरकार से आर्थिक सहायता नहीं मिलने के बाद भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा की भदारी निवासी श्वेता शाही ने विदेशी धरती पर अपने राज्य का नाम रौशन किया।

Read Updated Bihar News in Hindi

श्वेता की इस उपलब्धि से जिले के लोगों में काफी उत्साह है। श्वेता नालंदा जिले के सिलाव प्रखंड के भदारी गांव की रहने वाली है। गांव में खेल का मैदान नहीं होन के बाबजूद जोश और मेहनत से लबरेज श्वेता ने अपना खेल खेतों से शुरू किया था।

दुबई में आयोजित सातवें एशियन अंडर 18 गर्ल्स रग्बी की टीम ने कांस्य पदक जीत कर देश के साथ-साथ बिहार का मान बढ़ाया है। 30 नवंबर से 02 दिसंबर तक आयोजित इस टूर्नामेंट में श्रीलंका, उजबेकिस्तान, काजकिस्तान, हांगकांग, यूएई, चाइना, पाकिस्तान एवं भारत ने भाग लिया था।