मुर्दा हो गया जिंदा, जानें क्या है पूरा मामला…

810
0
SHARE

कटिहार: मुर्दा हो गया जिंदा जी हां, सुनने में यह बातें आपको जरूर थोड़ी अटपटी लग रही होगी लेकिन यह बातें सौ फीसदी सही हैं। दरअसल कटिहार जिले के  राधानगर गांव में शनिवार को 12 साल पहले मर चुका लड़का जिंदा वापस आ गया। घर और आसपास वाले भुत समझ पूजा – पाठ करने लगे लेकिन युवक द्वारा पूरा वाकया बताने के बाद घर में दोबारा खुशियां लौट आयी।

Read Latest News of Katihar in Hindi

12 साल पहले एक युवक की सर्पदंश से मौत हो गयी थी। मौत के बाद परिवार पर मातम टूट पड़ा। परिजनों के आंसू थमने के नाम नहीं ले रहे थे। सामाजिक कायदों के अनुसार। चूंकि मृतक अविवाहित था। लिहाजा उसे जलाने के बजाय डेड बॉडी को स्थानीय गंगा की धारा में प्रवाहित कर दिया गया और परिजनों ने श्राद्ध कर्म भी कर दिये।

बात सन 2004 की है। खेलते समय 10 साल के रौशन कुमार को सांप ने काट लिया था। इलाज और काफी झाड़-फूंक के बाद जब वह ठीक नहीं हुआ तो उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। रौशन के पिता गोपाल जायसवाल ने दावा किया है कि परिजनों और गांववालों के साथ मिलकर गंगा नदी के काढागोला घाट पर केले के थम पर अर्थी पर रखकर बहा दिया था।

Read Bihar News in Hindi

रौशन ने बताया कि उसे सपेरे ने बताया कि जिस सपेरे के साथ वह अबतक रहा उसने उसे बताया था कि वह उसे गुजरात में एक नदी के किनारे मिला था। उसने उसे जिंदाकर दिया। और तब से वह उसी सपेरे के साथ रह रहा था। अब परिजनों से मिलने के लिए गांव आ गया।

रौशन के दादा ने बताया कि उम्मीद थी कि मेरा पोता एक दिन जरुर जिंदा होकर घर लौटेगा। आखिर भगवान का चमत्कार हुआ और शनिवार को जिंदा होकर 12 वर्ष बाद घर लौट ही गया। रौशन को देखने के लिए कई गांवों से लोग और परिजन आ रहे है।