धड़ाधड़ गिरते विकटों से तेजस्वी को पता होना चाहिए 2020 का मैच उनके लिए दुःस्वप्न बन चुका है-राजीव रंजन

102
0
SHARE

PATNA: जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि सात निश्चय पार्ट 2 को लेकर के विपक्ष के अनावश्यक बयानों को बिहार की जनता गंभीरता से नहीं ले रही है। क्योंकि लोकप्रिय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार चुनाव के समय जो भी बातें करते हैं वह सिर्फ चुनाव के वायदे भर नहीं रह जाते हैं उन्हें जमीन पर भी उतारा जाता है।

राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि  उन्होंने जब बिहार की जनता को जंगल राज से मुक्ति दिलाने का वादा किया था तो कानून का शासन स्थापित कर उन्होंने अपना वादा पूरा किया।आधारभूत संरचना को लेकर उन्होंने वादा किया था कि बिहार को सड़कों से पाट दिया जाएगा और आज 95 % बिहार सड़क मार्ग से जुड़ गया है। इसी तरह का एक बड़ा वायदा बिजली को लेकर किया गया ,आज बिहार के हर गांव, कस्बे एवं टोले तक बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित कर दी गई है।

राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि नीतीश जी ने सात निश्चय पार्ट 2 के जरिये हर खेत को पानी और 21वीं सदी की जो चुनौतियां हैं। उनसे निपटने में सक्षम बिहार को लेकर उन्होंने अपना जो विजन सामने रखा है,उसपर  बिहार के विपक्ष को भरोसा हो या ना हो जनता को पूरा भरोसा है। यह कहीं ना कहीं बिहार के लिए गेम चेंजर साबित होगा। एक बड़ी जीत के लिए जनता एनडीए को इसलिए वोट करेगी क्योंकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी की कथनी और करनी में कोई फर्क नहीं होता है वह जो कहते हैं उसे पूरा भी करते हैं।

राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि महागठबंधन की हालत तो मैच शुरू होने से पूर्व ही मैदान से खिलाड़ियों के भागने वाली टीम जैसी हो गई है और धड़ाधड़ उनके विकेट गिरते ही चले जा रहे हैं। तेजस्वी यादव एक क्रिकेटर हैं और उन्हें पता है कि इन स्थितियों में किसी टीम का बड़ा स्कोर खड़ा कर पाना बड़ा ही मुश्किल है इसे उन्हें एक स्पोर्ट्स मैन की तरह ही स्वीकार कर लेना चाहिए कि उनकी स्थिति बहुत ही दयनीय हो चुकी है