डिजिटल होगा बिहार विधानसभा चुनाव 2020, बदल जाएंगे पुराने सभी तरीके- सुशील मोदी

890
0
SHARE

PATNA: बिहार में इस साल विधानसभा चुनाव होने वाला है. लेकिन कोरोना संकट में सभी इतने उलझ गए है कि इसपर किसी का ध्यान नहीं है. सभी कोरोना से निपटने में लगे हुए हैं. लेकिन चुनाव तो होना ही है. ऐसे में इस संबंध में बात करते हुए सूबे के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने बताया कि कोरोना संक्रमण की जो स्थिति है, इससे यह तय है कि पुराने तौर तरीकों पर चुनाव नहीं हो सकता है.

सुमो ने कहा कि बिहार में चुनाव के दौरान हेलीकाप्टर से नेताओं का दौरा होता था, बड़ी-बड़ी सभाएं होती थीं. लेकिन इस बात दूर दूर तक ऐसा होता दिखाई नहीं पड़ रहा. इसीलिए इस बार डोर तो डोर कैम्पेन और डिजिटल कैम्पेन, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और ऑडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये चुनाव होगा. अगला चुनाव जो भी होगा डिजिटल चुनाव होगा, डिजिटल कैम्पेन होगा और पुराने तौर तरीके पूरी तरह से बदल जाएंगे.

सूमो ने कहा कि वे पुराने तरीके को मिस करेंगे, लेकिन दुनिया बदल गयी है. एक नई दुनिया पोस्ट कोरोना उभर कर आई है और इस दुनिया मे नए तरीके का चुनाव होगा. आने वाले दिनों में हो सकता है लोग वोटिंग घर से ही करें, उन्हें बूथ जाने की जरूरत ना पड़े. नए-नए तरीके ईजाद होंगे. लेकिन यह तय है कि अगला चुनाव डिजिटल प्लेटफॉर्म का इस्तमाल करके ही होगा.

फेक न्यूज के संबंध में उन्होंने कहा कि यह बहुत बड़ी चुनौती है, इससे निपटना मुश्किल है. सोशल मीडिया का बड़े पैमाने पर दुरुपयोग हो रहा है. साइट्स के मालिक को यह जिम्मेदारी उठानी चाहिए कि उसके माध्यम से फेक न्यूज़ नहीं परोसी जाए. केंद्र सरकार इसे रोकने का प्रयास रही है, लेकिन इस चुनौती का मुकाबला सबको मिलकर करना है.

उन्होंने कहा कि BJP डिजिटल प्लेटफार्म का इस्तेमाल करने में बाकी सभी दलों से आगे है और इसका फायदा उन्हें चुनाव में मिलेगा. वोटर्स को रिझाने के लिए वे डिजिटल माध्यम का इस्तेमाल करेंगे. लेकिन वे काम के बेसिस पर चुनाव जीतेंगे, बातों के बेसिस पर नहीं.

वहीं उन्होंने अन्य दलों के नेता की सोशल मीडिया पर बयानबाजी के संबंध में कहा कि सोशल मीडिया पर लोग भड़ास निकालते हैं, फ्रस्ट्रेशन निकालते हैं. डीजिटल चुनाव में पहले की तुलना खर्च कम होगा. लेकिन जिनके पास पैसा है, वो टेक्नोलॉजी का प्रयोग कर घर-घर रुपया पहुंचा देते हैं, लेकिन इससे कोई चुनाव नहीं जीत सकता.