डॉक्टर की लापरवाही, बंध्याकरण के बाद महिला हुई प्रेग्नेंट

507
0
SHARE

KAIMUR: जिले में चिकित्सकीय लापरवाही एक परिवार के ऊपर भारी पड़ गया। परिवार दो बच्चे के जन्म के बाद सरकार द्वारा चलाए जा रहे बंध्याकरण पखवाड़े के तहत वर्ष 2017 में बंध्याकरण तो करा दिया लेकिन बंध्याकरण कराने के तीन साल बाद महिला फिर से गर्भवती हो गई । महिला के पेट में हल्का दर्द होने पर यूपी के सैयदराजा में जाकर जब अल्ट्रासाउंड करवाई तो पता चला कि 4 महीने का बच्चा पेट में पल रहा है। अब महिला दुर्गावती पीएचसी से लेकर अधिकारियों के पास न्याय की गुहार लगा रही है। वही अधिकारी मामले की जांच कर सरकार से मिलने वाली सहायता राशि देने की बातें कह रहे हैं।

महिला के पति बताते हैं कि हम गरीब परिवार हैं दिल्ली कमाते और खाते हैं। मेरी औरत काफी दुबली पतली है, दो बच्चा के जन्म होने के बाद मैंने सरकार द्वारा चलाए जा रहे परिवार नियोजन के तहत बंध्याकरण का ऑपरेशन अपने प्रखंड के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दुर्गावती में कराया। जिसका परिवारिक लाभ भी मेरे खाते में 14 सौ रुपए ट्रांसफर किया गया, 3 साल बाद मेरी पत्नी गर्भवती हो गई। अब समझ में नहीं आ रहा है कि मैं क्या करूं। मेरी पत्नी बहुत ही दुबली है अगर बच्चे के जन्म देने के उपरांत अगर कोई अनहोनी हो जाए तो फिर मेरा और बच्चों क्या होगा।

वहीं सिविल सर्जन बताते हैं मामला संज्ञान में आया है। एसीएमओ को जांच के लिए दिया गया है । जांच रिपोर्ट आने के बाद परिवारिक लाभ भी दिया जाएगा और यह भी देखा जाएगा कि किस स्तर पर लापरवाही हुई है। कुछ मामलों में ऐसा होता है अगर लापरवाही हुई होगी तो संबंधित पदाधिकारी पर कार्रवाई किया जाएगा ।