सहरसा में मानव श्रृंखला के दौरान महिलाओं ने किया हंगामा

976
0
SHARE

सहरसा: शराबबंदी के समर्थन में मानव श्रंखला बनाई जा रही थी तो इसी दौरान शराब की पॉकिट लेकर महिलाओं ने किया हंगामा बरपा किया। मानव श्रृंखला का विरोध करने लगी। मौके पर पहुचे थाना प्रभारी को महिलाओं और लोगों ने खदेड़ दिया। लोगों का आरोप है कि थाना प्रभारी के मिली भगत से शराब बिकता है।

Read More Saharsa News in Hindi

आज पुरे बिहार में जहां सरकार और नीतीश कुमार के नशा मुक्ति को लेकर मानव श्रृंखला का आयोजन किया गया। वहीं प्रशासन के नाक के नीचे खुल्लेआम शराब बिका रहा है। जिसके कारण लोगों का जीना दुर्लभ हो गया है। जब नीतीश कुमार ने बिहार में पिछले साल शराब पर पूर्ण पाबंदी लगाईं थी तो महिलाओं को लगा था की उनके लिए अच्छे दिन की शरुआत हो गई है।

लेकिन आज जिस कदर रोहतास जिले के बिक्रमगंज थाना के धनगाई गांव की महिलाओं ने शराब के खाली पैकेट लेकर सडक पर उतरी तो सचाई की कलई खुल गई। और स्थानीय पुलिस और जिला प्रशासन के लचर रवैया की कहानी सबके सामने आने लगी।

महिलाओं ने खुल कर विरोध में बिक्रमगंज थाना प्रभारी के उपर शराब बिकवाने का आरोप लगया। और मानव श्रृंखला का विरोध कर सडक को जाम कर नारे बाजी करने लगे। जब इसकी सुचना बिक्रमगंज थाना प्रभारी को मिली तो वे मौके पर पहुचे और पुलिसिया रुआब दिखा कर मामला को शांत करना चाहा तो महिलाओं ने थाना प्रभारी को खदेड़ना शुरू किया मजबूरन थाना प्रभारी को भागना पड़ा।

वहीं ग्रामीण महिलाओं ने साफ तौर पर कहा कि बिक्रमगंज के थाना प्रभारी धनगाई गांव में शराब को बिकवा रहे है। सच तो यह है की भले सुशासन बाबू लाख दावे कर ले लेकिन उनके पुलिस और पदाधिकारियों के कारण शराब पर अंकुश लगाना मुमकिन नहीं लग रहा है। वहीं ग्रामीणों ने कहा कि चाहे जो करना है कर ले मानव श्रृंखला या पोस्टर लगा ले लेकिन जब तक अधिकारियों की मिली भगत रहेगी तब तक शराब बंद नहीं होगा।