पूरे नगर में दिखा भक्तिमय शिवमय माहौल

193
0
SHARE

पूर्वी चम्पारण – ऐतिहासिक भूतभावन बाबा सोमेश्वरनाथ महादेव को कल श्रद्धालु भक्त जलाभिषेक करेंगे। श्रद्धालु भक्त पूर्वी चम्पारण और शिवहर-सीतामढी जिला के सीमा के पवित्र बागमती नदी के देवापुर बेलवाघाट से जल लेकर पैदल करीब 95 किलोमीटर की यात्रा कर अरेराज पहूंचेगें और जलाभिषेक करेंगें। जिसके लिए डाकबम कांवरियों का जत्था जल लेकर मोतिहारी होते हुए अरेराज धाम के लिए प्रस्थान किया। देर शाम डाक बम का जत्था मोतिहारी होकर गुजरना शुरु हुआ जो पूरी रात जारी रहा। लेकिन इन सबसे अलग इस साल के कांवर यात्रा समाज में एक अलग ही मिशाल छोड़ गयी।

वहीं मुस्लिम भाईयों का महत्वपूर्ण पर्व मोहर्रम रहा, मोहर्रम में ताजिया जुलूस का पूर्वी चम्पारण में भव्य आयोजन होता रहा है लेकिन प्रबुद्ध मुस्लिम भाईयों ने आपसी सहमति बनाते हुए ताजिया जुलूस को दो दिनों के बाद 23 सितम्बर को निकालने की घोषणा किया और इसपर अमल भी किया गया। 95 किलोमीटर की लम्बी कांवर पथ में कहीं कोई ताजिया जुलूस का आयोजन नहीं किया गया। साथ ही मुस्लिम धर्मावलम्बियों नें साम्प्रदायिक सौहार्द का परिचय देते हुए पूरी रात कावंरियों की सेवा में जुटे रहे। मोतिहारी नगर में कांवरियों के पहुंचने समय से शाम हो जाती है, पूरे मोतिहारी नगर में भक्तिमय शिवमय माहौल रहा। कांवर पथ को पूरी तरह रौशनी से सजाया गया और डाक बम कावरियों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो इसके लिए लोगों ने बढ़-चढ़ कर सेवा किया।

बता दें कि अनन्त चतुर्दशी के अवसर पर अरेराज में तीन दिवसीय विशाल मेला का आयोजन होता है जिसमें करीब पांच लाख कांवरिया जलाभिषेक करते है। जलाभिषेक करने के लिए आस-पडोस के जिलों के साथ-साथ पडोसी देश नेपाल और बंगाल से भी श्रद्धालु भक्त पहूंचते हैं और भूतभावन बाबा सोमेश्वर नाथ महादेव को जलाभिषेक करते हैं।